बड़ी खबरें

गिद्धौर में बोले आनंद कौशल, शिक्षकों के सम्मान के लिए आखिरी सांस तक लड़ाई रहेगी जारी

गिद्धौर (न्यूज़ डेस्क) :- सूबे के लाखों प्रारंभिक से लेकर उच्चतर माध्यमिक विद्यालय के हड़ताली शिक्षक अपने पेट की लड़ाई नहीं लड़ रहे है बल्कि करोड़ों गरीब के बच्चों के शिक्षा को बचाने व शिक्षकों के सम्मान को बचाने की लड़ाई लड़ रहे है।

उपरोक्त बातें शुक्रवार को स्थानीय संघ भवन से प्रवर्तनकारी शिक्षक संघ के प्रदेश अध्यक्ष बंशीधर ब्रजवासी के साथ बाँका रवाना होने के दौरान प्रेस से वार्ता करते हुए समन्वय समिति के राज्य अध्यक्ष मंडल के सदस्य आनंद कौशल सिंह ने कही । प्रदेश अध्यक्ष आनंद कौशल ने कहा कि सूबे के लाखों हड़ताली शिक्षक सरकार से सभी मांगों को पूरी करवाने तक इस अनिश्चित कालीन रूपी महा आंदोलन को जान की बाजी लगाकर जारी रखने का संकल्प ले चुके है । उन्होंने सरकार को चेतावनी देते हुए कहा कि अगर लोकतांत्रिक तरीके से हड़ताल कर रहे शिक्षकों पर बर्खास्तगी, झूठा एफआईआर, निलंबन जैसे कार्रवाई को बंद नहीं किया गया तो सूबे के मुख्यमंत्री का भी हश्र हिटलर के जैसा ही होगा । मौके पर प्रवर्तनकारी शिक्षक संघ के प्रदेश अध्यक्ष बंशीधर ने कहा कि शिक्षा व शिक्षक को नजर अंदाज कर जनता के खून-पसीने के पैसा का सरकार बंदरबांट करना चाहती है । इसलिए शिक्षकों और छात्रों की माँग पूरी करने में नीतीश सरकार आनाकानी कर रही है ।उन्होंने कहा कि सरकार अपने लोगों के ऐशो आराम के लिए सरकारी खजाने का धन बर्बाद करने बजाय शिक्षा व शिक्षक की दशा सुधारने में पैसा खर्च करे । उन्होंने कहा राज्य के 30 संघ के सरकार के हिटलर शाही के खिलाफ एक जुट होकर हड़ताल रूपी निर्णायक लड़ाई प्रारंभ कर चुके है जो मांग पूरी होने तक जारी रहेगी । नेताओं ने कहा कि सरकार से नियोजित शिक्षकों को पुराने नियमित शिक्षकों की भांति वेतनमान, सेवा शर्त, राज्य कर्मी का दर्जा  देना, मृत शिक्षकों के आश्रितों को नियम में शिथिलता करते हुए शिक्षक पद पर नियुक्ति करना,पुरानी पेंशन योजना का लाभ सभी शिक्षकों को देना, सामान्य भविष्य निधि एवं ग्रुप बीमा का लाभ सभी शिक्षकों को देना, शिक्षकों की सेवानिवृत्ति की आयु को 60 वर्ष से बढ़ाकर 65 वर्ष करना, सभी प्राथमिक विद्यालयों में प्रधानाध्यापक का पद सृजित  करते हुए अविलंब उस पद पर पदस्थापन करने, नवप्रशिक्षित शिक्षकों के वेतन विसंगति को दूर करवाने जैसे मांगों को पूरा करवाने तक अनिश्चित कालीन तालाबंदी हड़ताल जारी रहेगा । इस अवसर पर प्रदेश सचिव विपिन बिहारी भारती,निरंजन कुमार,लखन लाल निषाद,मुन्ना यादव,राजीव वर्णवाल,जितेंद्र कुमार उपस्थित थे।