बड़ी खबरें

पूर्व विधायक सुमित सिंह बोले - मेरे परिवार के राजनीतिक विरासत से सब परिचित, सीएम नीतीश पर पूरा भरोसा

चकाई/जमुई/पटना :
फर्जीवाड़े के आरोप में गिरफ्तारी वारंट जारी होने के बाद जनता दल यूनाइटेड के युवा नेता व चकाई विधानसभा क्षेत्र के पूर्व विधायक सुमित कुमार सिंह ने कहा है कि मुझे बिहार के मुख्यमंत्री माननीय नीतीश कुमार जी पर पूरा भरोसा है। सच में न्याय होगा इसकी मुझे उम्मीद है, हालांकि मुंगेर पुलिस की पूरी कार्रवाई राजनीति से प्रेरित है। मेरा, मेरे परिवार की विरासत से सब परिचित हैं। इस तरह का ओछा लांछन तो दूर की बात मेरे परिवार पर कोई आरोप आज तक नहीं लगा है।

मैं विधायक रहा, मेरे पिताजी दशकों तक कृषि मंत्री , खाद्य आपूर्ति विभाग के मंत्री, स्वास्थ्य मंत्री रहे, मेरे दादाजी बिहार के प्रमुख विभागों में मंत्री रहे, मेरे दो अग्रज विधायक रहे हैं, कभी कोई आरोप नहीं लगा। भ्रष्टाचार तो दूर की बात कभी कोई उंगली नहीं उठा पाया। एकबारगी एक कथित फ़र्ज़ी पीए का मामला आता है, उसके करीब छह माह बाद किसी के कथित इकबालिया बयान के आधार पर अभियुक्त बना गिरफ्तारी का वारंट जारी कर दिया जाता है। यह सामान्य अपराध अनुसंधान की प्रक्रिया एवं न्याय नैसर्गिक सिद्धांत के खिलाफ है।
किसी अपराधी के कथित इकबालिया बयान के आधार पर कैसे एक सम्मानित संभ्रांत व्यक्ति के खिलाफ मामला दर्ज कर गिरफ्तारी की प्रक्रिया शुरू हो सकती है? क्या जिला पुलिस को इतनी समझ भी नहीं थी कि वह मुझसे या, मेरे पिताजी से इस संदर्भ में हमारा पक्ष नहीं ले सकती थी? क्या हम आतंकवादी थे? क्या हमने कोई ऐसा जघन्य अपराध किया था कि मानवता के लिए खतरा बन गए थे? क्या हमारी कोई आपराधिक पृष्ठभूमि थी? यह सब दर्शाता है कि यह पूरी तरह से पूर्वाग्रह से ग्रसित होकर, सिर्फ हमारी प्रतिष्ठा को धूमिल करने के लिए विरोधी राजनेताओं के प्रभाव में आकर मुंगेर पुलिस ने यह कदम उठाया है।

मैं आज भी कहता हूं कि अगर इसमें तनिक भी सच्चाई है तो वह जनता के समक्ष सबूत रखे। मैं राजनीति से सदा के लिए संन्यास ले लूंगा। मैं कोई भावावेश में यह नहीं कह रहा हूं। यह मेरी राजनीति की पहली शर्त है कि अगर किसी तरह का कोई लांक्षण प्रथम दृष्टया सही प्रतीत होगा तो मैं उसी दिन राजनीति छोड़ दूंगा। मैं महान समाजवादी नेता पूर्व मंत्री श्रीकृष्ण सिंह का पोता हूं। लांछन, आरोप, जिल्लत सह कर राजनीति करने नहीं आया हूं। पूरी तरह पाक दामन राजनीति मेरे खून में है। इस पर दाग लग जाए, यह मुझे कतई बर्दाश्त नहीं।

मुझे माननीय मुख्यमंत्री नीतीश जी पर भरोसा है। वह निश्चय ही न्याय करेंगे। वह निश्चय ही इस मामले में न्यायप्रिय हस्तक्षेप करेंगे। अगर मैं दोषी हूं तो बिना किसी देरी के जो सर्वोच्च सज़ा है। वह दें, अन्यथा, जिसने मेरे जैसे युवा राजनीतिक कार्यकर्ता की कुछ कर गुजरने के मनोबल और तमन्ना को कलंकित कर मानमर्दन करने की कोशिश की है, उसे ऐसा दंड मिले की, वह मिसाल बन जाय।