बड़ी खबरें

गिद्धौर में DM ने मानव श्रृंखला को लेकर की जागरूकता सह समीक्षा बैठक, निकली बाइक रैली

न्यूज़ डेस्क | अभिषेक कुमार झा】 :-

जल-जीवन-हरियाली, नशामुक्ति, बाल-विवाह निषेध एवं दहेज उन्मूलन के पक्ष में 19 जनवरी को बनने वाले मानव श्रृंखला को लेकर   जिला प्रशासन एक्टिव दिख रही है।

सीएम के इस अभियान को सफल बनाने के लिए डीएम धर्मेंद्र कुमार ने शनिवार को गिद्धौर प्रखण्ड कार्यालय परिसर में तकरीबन 25 मिनट की जागरूकता सह समीक्षा बैठक की जिमसें गिद्धौर प्रखंडाधीन सभी ग्राम पंचायत के वार्ड, पंच, सरपंच व मुखिया सहित प्रखण्ड के विभिन्न सेक्टर अधिकारियों के अलावे सैंकड़ों ग्रामीणों ने भाग लिया। कार्यक्रम का संचालन प्रखंड विकास पदाधिकारी गोपाल कृष्णन ने करते हए जिला प्रशासन का अभिनन्दन किया। इसके बाद मंचासीन एसडीओ लखिन्द्र पासवान ने लोगों से मानव श्रृंखला में भाग लेने की अपिल करते हुए अपने सम्बोधन से लोगों के इस अभियान में भागीदारी बनने को प्रेरित किया।


 कार्यक्रम के दौरान पुलिस अधीक्षक डॉ. एनामुल हक मेंगनू ने अपने संबोधन में कहा कि सरकार विकास के लिए काम करते हुए इसके हित में सार्थक कदम उठाती है, मानव श्रृंखला इसी का उदाहरण है, लोग स्वेच्छा से इस सामाजिक कुरीतियों के विरोध एवं पर्यावरण संरक्षण के समर्थन में इस मानव श्रृंखला में भाग लेकर इसे सफल बनायें। एसपी ने कहा कि इस मानव श्रृंखला से समाज के साथ साथ पड़ोसी राज्यों को भी हमारे एकता का पता चलेगा।
एसपी के संबोधन के बाद डीएम धर्मेन्द्र कुमार ने मानव श्रृंखला की महत्वता एवं मानव श्रृंखला की रणनीति से  पदाधिकारियों को अवगत कराते हुए उन्होंने बीडीओ गोपाल कृष्णन को ब्लॉक के बाहर रुट चार्ट लगवाने का निर्देश दिया।


 इसी क्रम में डीएम के पूछे जाने पर सेवा पंचायत के मुखिया ने मानव श्रृंखला के उद्देश्य एवं इसके महत्वता पर प्रकाश डाला। डीएम ने कहा कि कोई भी अभियान तब तक सफल नहीं हो सकता जबतक उसमे आमजन की सहभागिता न हो। आमजन के सहभागिता से ही मानव श्रृंखला जैसे अभियान की सफलता सम्भव है। गिद्धौर प्रखण्ड में सुखाड़ और जल संकट पर भी डीएम धर्मेन्द्र कुमार ने प्रकाश डालते हुए लोगों के समक्ष उदाहरण पेश की। डीएम ने बताया कि इस मानव श्रृंखला की वीडियोग्राफी सेटेलाइट और ड्रोन से की जाएगी।


डीएम धर्मेन्द्र कुमार ने बताया कि मानव श्रृंखला के दौरान सिक्योरिटी का पुख्ता इंतजाम रहेगा, साथ ही सड़क पर मानव श्रृंखला के दौरान किसी भी प्रकार की असुविधा न हो इसके लिए मानव श्रृंखला निर्माण तक वाहनों का परिचालन बंद रखा जाएगा। अपने सम्बोधन के अंत मे डीएम ने मानव श्रृंखला में अधिक से अधिक लोगों को शामिल होने की अपील की है।


बैठक में प्रखंड प्रमुख शम्भू केशरी, डीपीओ राजदेव राम, सीओ अखिलेश प्रसाद सिन्हा, प्रखण्ड शिक्षा पदाधिकारी आनंदी हरिजन, प्रखण्ड आपूर्ति पदाधिकारी कुमार मनोज, कार्यपालक प्रीतम, आरओ प्रीति कुमारी, पीओ नरेश कुमार के अलावे आगनबाड़ी कार्यकर्ता, जीविका दीदी, सहित प्रखण्ड क्षेत्र के अंतर्गत विभिन्न पंचायतों के प्रतिनिधियों के अलावे सैंकड़ों की संख्या में ग्रामीण मौजूद थे। बैठक अवधि के दौरान बीडीओ गोपाल कृष्णन इवेंट की मॉनिटरिंग करते नजर आए।



बाइक रैली : बुल्लेट पर एक साथ नजर आए एसपी व डीएम

मानव शृंखला के प्रचार प्रसार एवं जागरूकता के लिए डीएम धर्मेन्द्र कुमार एवं एसपी एनामुल हक मेंगनू के नेतृत्व में गिद्धौर प्रखण्ड कार्यालय परिसर से बाइक रैली निकाली गयी।


 बाइक रैली प्रखंड मुख्यालय से निकलकर झाझा के लिए रवाना हुई। इस दौरान आमजन से मानव शृंखला में शामिल होने और जल जीवन हरियाली को बढ़ावा देने की अपील की गई।
मौके पर गिद्धौर प्रखण्ड कार्यालय के कर्मी, अधिकारी सहित सैकड़ों की संख्या में एकत्रित होकर रैली में भाग लिया। रैली के दौरान बुलेट पर सवार डीएम धर्मेन्द्र कुमार के साथ एसपी एनामुल हक मेंगनू एक साथ नजर आए। वहीं उनके साथ प्रखण्ड विकास पदाधिकारी गोपाल कृष्णन व थानाध्यक्ष आशीष कुमार दूसरे बुलेट पर एक साथ इस रैली में भाग लिया।

- आईडीकार्ड के साथ दिखे अधिकारी -

बीते दिनों जिला प्रशासन द्वारा पारित आदेशों में अधिकारियों को अनिवार्य किये गए आईडीकार्ड का असर इस समीक्षात्मक बैठक में भी नजर आया। प्रखंड कार्यालय के सभी कर्मी सहित अधिकारी आईडीकार्ड के साथ बैठक के सफल संचालन में अपनी सक्रिय भागीदारी निभाई।


- कला जत्था की टीम ने दिया पर्यावरण संरक्षण का संदेश -

 कला जत्था टीम ने शनिवार को नुक्कड़ नाटक के माध्यम से लोगों को जल, जीवन, हरियाली का संदेश दिया। टीम ने प्रखंड मुख्यालय परिसर में अपने जत्थे के साथ गीत-संगीत व नाटक के माध्यम से लोगों को जल-जीवन हरियाली के समर्थन में मानव श्रृंखला में भाग लेने को प्रेरित किया। कलाकारों ने दहेज प्रथा, बाल विवाह प्रथा एवं नशापान के नुकसान की जानकारी देते हुए इनके उन्मूलन का आह्वान किया।
अपने नुक्कड़ नाटक के माध्यम से कला जत्था की टीम ने बताया कि पोलिथिन हमारे पर्यावरण के लिए नासूर है। हम पेड़ों को काट रहे हैं और पृथ्वी का संतुलन बिगड़ रहा है। इस संतुलन को बरकरार रखने के लिए हमें एक जुट होकर पर्यायवरण संरक्षण के लिए खड़ा होना होगा।