Breaking News

6/recent/ticker-posts

बच्चों के बस्ते का बोझ होगा कम, CBSE ने कर दी किताबों की संख्या निर्धारित

[News Desk| gidhaur.com]
केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE) ने सभी कक्षाओं के लिए किताबों की संख्या निर्धारित कर दी है। अब सीबीएसई स्कूलों में इसी के आधार पर पढ़ाई होगी, जो टेक्स्टबुक बोर्ड ने निर्धारित की है। इसकी सूचना भी सभी पंजिकृत स्कूलों को दे दी गई है। इसके अलावे किताबों की सूची भी स्कूलों को उपलब्ध कराई गई है।

अभी तक स्कूलों में अपनी मर्जी की किताबें चल रही थी, लेकिन अब जो किताबें बोर्ड ने निर्धारित कर दी है उसे ही चलाना है। कक्षा 1 एवं दो  के लिए होमवर्क सिस्टम को लगभग समाप्त कर दिया गया है। इन वर्गों के लिए 3 किताबें ही लागू होगी।

बोर्ड ने आठवीं तक के कक्षा के लिए भी किताबों की संख्या निर्धारित कर दी है। बोर्ड कि यदि मानें तो, टेक्स्ट बुक एनसीईआरटी द्वारा तैयार की गई है। बोर्ड के इस प्रयास से बस्ते का बोझ कम होगा। हर क्लास के लिए किताबों की संख्या निर्धारित कर दी गई है। सभी स्कूलों को CBSE ने सूचनाएं भी दे दी है।

बोर्ड द्वारा लागू किए गए इस नए व्यवस्था में कक्षा 1 एवं 2 के लिए तीन; कक्षा 3 एवं 4 के लिए चार; कक्षा 5 एवं 6 के लिए सात; तथा कक्षा 7 एवं 8 के लिए तेरह किताबें निर्धारित की गई।

इस तरह के कवायद में नौनिहालों को बस्ते के बोझ से हमेशा के लिए छुटकारा मिल सकेगा। पर अब देखने यह है कि इलाके मे बड़ी संख्या में खोले जा रहे निजी विद्यालय इस तिलिस्म से बच्चों को कहाँ तक लाभ पहुँचा पाते हैं।