बड़ी खबरें

लद्दाख में शहीद हुए भारतीय जवानों को दी गई अश्रुपूर्ण श्रद्धांजलि, लोगों ने चीनी समानों के बहिष्कार का लिया संकल्प




मांगोबंदर (शुभम मिश्र) :
जिले के खैरा प्रखंडान्तर्गत मांगोबंदर गांव में गुरूवार को अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद मांगोबंदर इकाई द्वारा गलवान घाटी(लद्दाख) में चीनी सैनिकों के साथ लोहा लेते, वीरगति को प्राप्त हुए 20 भारतीय सैनिकों की यादों में सदस्यों ने मोमबत्ती जलाकर 2 मिनट का मौन धारण करते हुए अश्रुपूर्ण श्रद्धांजलि दी। इस दौरान भारत माता की जयघोष द्वारा पूरा वातावरण गूंजायमान हो गया। इस बाबत सदस्य कुमार सौरभ सिंह,राजा सिंह, नीरज रावत,पल्टू मोदी,गुड्डू मिश्रा,आशीष गुप्ता,सोनाली कुमार,कूकू कुमार ने बताया कि आज का भारत 1962 वाला भारत नहीं है। हमारा देश हर प्रकार से ईंट का जवाब पत्थर से देने में सक्षम हैं।हमारा देश हमेशा शांति प्रिय है, इस कारण हमलोग शुरुआत कभी भी नहीं करते हैं ; पर जब बात हमारे देश की आन-बान-शान की हो तो हमलोग पीछे नहीं हटते। उनलोगों ने यह भी कहा कि चीन की फ़ितरत हमेशा धोखा देना है वर्ना भारतीय सेना के पराक्रम के सामने उसकी कुछ नहीं चलेगी। 
आज चीन द्वारा बनाये हुए खतरनाक कोरोना वायरस से पूरा विश्व परेशान है। जिस कारण लाखों लोग मारे जा चुके हैं।वहीं इनलोगों ने कहा कि चीन हमारे ही पैसों का उपयोग हमारे ही सैनिकों को मारने में करता है ; अतः हमलोगों ने चीनी समानों एवं चीनी मोबाइल एप्प का बहिष्कार करने का संकल्प लिया है। हमलोग Gidhaur.com के माध्यम से लोगों से अपील करते हैं कि चीनी समानों का बहिष्कार कर देश के समर्थन में उतरें।अगर ज़रूरत पड़े तो हमलोग भी देश के दुश्मनों से लड़ने को तैयार हैं। इस दौरान वरीय सदस्य गुड्डू मिश्र ने कहा कि नेपाल को भारत से लड़ाने का काम चीन ने ही किया होगा। वो चाह रहा है कि भारत को हर तरफ़ से घेरा जाय।सरकार को नेपाल बार्डर पर भी हाई एलर्ट करना चाहिए क्योंकि चीन जैसे नीच हरक़त करने वाले देश पर भरोसा नहीं किया जा सकता है। वो नेपाल के तरफ़ से भी कुछ हरक़त कर सकता है। वहीं सदस्य कुमार सौरभ,पल्टू मोदी,राजा सिंह, नीरज रावत ने बताया कि हमारा संगठन एक दिन चीन के खिलाफ़ पुतला दहन कर विरोध व्यक्त करेगा। उक्त अवसर पर लोगों ने सोशल डीस्टेंशिंग का भी पालन किया।