बड़ी खबरें

अलीगंज : आभासी रैली नहीं, रोजगार और कोरोना से सुरक्षा की गारंटी दे सरकार

अलीगंज | संयुक्त बामदलों के आह्वान पर देश व्यापी विश्वासघात और धिक्कार दिवस का कार्यक्रम प्रखंड के अलीगंज बाजार में लाॅकडाउन के नियमों का पालन करते हुए किया गया। जिसकी अध्यक्षता भाकपा माले के अंचल सचिव महेन्द्र यादव ने किया। धरना को संबोधित करते हुए माकपा नेता डा दिनेश कुमार ने कहा की आज पुरे देश कोरोना संकट से जूझ रहा है। मगर केन्द्रीय गृहमंत्री अमीत शाह जी इस संकट में कहीं नजर नही आए और अभी रैली करने चले हैं, इनको जनता से मोहब्बत नहीं सिर्फ जनता का वोट से तालुक है। सिर्फ इनको कुर्सी से मोहब्बत है। यह हमारी देश के भोली भाली जनता के साथ विश्वासघात किया है।
जब से देश में भाजपा की सरकार बनी तब से देश की जनता का कमर तोड़ कर रख दिया है। इन्होंने जनता को ठगने का काम किया है कभी नोट बन्दी की मार, कभी जीएसटी की मार। ये कोरोना लाॅकडाउन में प्रशासन द्वारा लाठी की मार, प्रवासी मजदूर प्रशासन की डर पैदल रेल की पटरियों पर भी नही बख्शा गया और सोलह मजदूर की जान ले ली गई। कितने मजदूर भुख के कारण दम तोड़ दिये है। माकपा के अंचल सचिव परमेश्वर यादव ने कहा कि गृहमंत्री अमीत शाह चले है, मजदूरों के आँसु पोछने यह बहुत बड़ा धोखा है। इसने हमेशा जनता के आपसी भाईचारे के बीच दरार पैदा करनें का काम किया है। जनता इसकी हकीकत समझ चुकी है। जनता में आपसी भाईचारे की जरूरत है, अमन शांति की जरूरत है। जनता को रोटी की जरूरत है, जनता को रोजगार की जरूरत है। अमीत शाह जी ये ढोंग करना बन्द करें। 
इसलिए केन्द्र व राज्य सरकार से हमारी कुछ मांगे इस प्रकार है कि :-
पहली माँग, आयकर देने वाले को छोड़ कर सभी परिवारों को छह महीने की अवधि तक प्रतिमाह 7500 रूपया नकद दे। 
दूसरी माँग, छह महीने की अवधि तक प्रतिमाह प्रतिव्यक्ति को दस किलो राशन दो। 
तीसरी माँग, फंसे हुए प्रवासी श्रमिकों को उनके घर पहुंचाने के लिए मुफ्त परिवहन, भोजन और पानी की व्यवस्था करो। 
चौथी माँग, मनरेगा में बढी हुई मजदुरी के साथ न्यूनतम दो सो दिन काम दो। शहरी गरीबों के लिए भी रोजगार गारंटी योजना का विस्तार करो। 
पांचवी माँग, भुख प्यास, दुर्घटना, बीमारी और क्वारन्टीन सेन्टरो के मृतकों के परिजनों को बीस-बीस लाख रूपये का मुआवजा दो। 
छठी माँग, क्वारन्टीन सेन्टरो को लाॅकडाउन की सम्पूर्ण अवधि तक चालू रखो और ईनकी व्यवस्था चुस्त दुरुस्त करो। ज्यादा जांच और इलाज की बेहतर व्यवस्था करो। 
सातवीं माँग, किसानों के  केसीसी सहित तमाम कर्ज और स्वयं सहायता समूहों के कर्ज माफ करो। तमाम तरह के फसलों की अनिवार्य खरीद की गारंटी करों। 
इस कार्यक्रम में डा उदय सिंह, राम प्रसाद, राजकुमार यादव, रीता देवी, महेन्द्र यादव, दिनेश कुमार, परमेश्वर यादव सहित दर्जनो पार्टी कार्यकर्ता मौजूद थे।