बड़ी खबरें

अलीगंज : हर घर तक नहीं पहुंच रहा नल का जल, लाखों खर्च के बाद भी नहीं बुझ रही प्यास


अलीगंज | चंद्रशेखर आजाद :
सरकार की सबसे महत्वकांक्षी सात निश्चय योजना में लोगों के घरों तक नल से जल पहुंचाने का सपना ही बनकर रह गया।प्रखंड के अधिकांश पंचायतों के वार्डो में लोक स्वास्थय  अभियंत्रण विभाग (PHED) के द्वारा बनाये गये पानी टंकी अनियमितता की भेंट चढ़कर शोभा की वस्तु बनकर रह गयी है। गौरतलब है कि जमुई (Jamui) जिला के अलीगंज (Aliganj) प्रखंड में मुख्यमंत्री सात निश्चय योजना (Sat Nishchay Yojna) दम तोड़ती नजर आ रही है। वही प्रखंड के कोदवरिया पंचायत के वार्ड नम्बर 12 में बनाये गये पानी टंकी से निर्माली गांव के लोगों में आस जगी थी कि मुख्यमंत्री सात निश्चय योजना से बना पानी टंकी से हर घर में पानी पहुंचेगी लेकिन बनने के बाद इस योजना से ग्रामीणों को महीनों दिन के बाद ही इस पानी टंकी घरों तक पानी पहुंचना बंद हो गया।

बोले ग्रामीण
 ग्रामीण महेन्द्र यादव, कालेश्वर यादव, अवधेश यादव, सुभाष यादव, पुतुल देवी आदि लोगों ने बताया कि दो वर्ष पूर्व मुख्यमंत्री सात निश्चय अंतर्गत हर घर नल का जल योजना के तहत पानी टंकी का निर्माण किया गया था। मात्र एक महीने तक ही ग्रामीणों का पानी का लाभ मिला।जिसके बाद पाईप उखाड़ दी गयी। जिसके बाद प्रखंड से लेकर जिला तक शिकायत की गयी लेकिन आज तक इसकी मरम्मत तो दुर कोई सुधि तक लेने नही आया।

बता दें कि प्रखंड में नल जल योजना का बुरा हाल है। गर्मी बढ़ते ही विभिन्न क्षेत्रों में जल संकट गहराने लगा है। अधिकांश चापाकलो ने पानी उगलना बंद कर दिया है, जिसके कारण खासकर पहाड़ी की तलहटी में बसे गांवो में लोग पानी के लिए तरस रहे हैं।और पानी के लिए इधर-उधर भटकना पड रहा है। प्रखंड में नल जल योजना विफल होकर रह गयी है।

युवा नेता महेश सिंह,राणा, समाजसेवी सह कांग्रेस नेता धर्मेन्द्र पासवान, समाज सेवी शशिशेखर सिंह मुन्ना ने कहा कि प्रखंड अधिकांश पंचायतों में बोरिग कराकर सीएम सात निश्चय योजना के तहत पानी टंकी से घरों तक पानी पहुंचाने की व्यवस्था करायी गयी। यह योजना विफल होकर शोभा की वस्तु बनकर रह गयी है।और अधिकारियों की मिलीभगत से नल जल योजनाओं में व्यापक पैमाने पर लुट खसोट व संवेदक द्वारा घटिया काम करवाने व बोरिग की निर्धारित गहराई नही किये जाने के कारण यह योजना विफल हो गयी और लोग पानी के लिए तरस रहे हैं।

No comments