Merit Go

Breaking News

पाकिस्तान रच रहा है PM मोदी पर हमले की साजिश, सुरक्षा एजेंसियों ने जारी किए निर्देश

       सेंट्रल डेस्क,
👤 अक्षय कुमार

  • पाकिस्तान में बैठे आतंकी रच रहे हैं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर हमले की साजिश
  • खुफिया एजेंसियों ने एसपीजी और दिल्ली पुलिस को दी हमले की आशंका की जानकारी
  • रैली के दौरान भीड़ में घुसकर कर सकते हैं आतंकी हमला, सुरक्षा एजेंसियां चौकन्नी.



नई दिल्ली : केन्द्र सरकार के हालिया फैसलों के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पाकिस्तान में बैठे आतंकी संगठनों के टारगेट पर हैं। खुफिया एजेंसियों ने एसपीजी और दिल्ली पुलिस को इनपुट दिया है कि रविवार को दिल्ली के रामलीला मैदान में होने वाली प्रधानमंत्री की धन्यवाद रैली के दौरान आतंकी भीड़ में घुसकर उन पर हमला कर सकते हैं।

इनपुट मिलने के बाद दिल्ली पुलिस के अलावा सभी सुरक्षा एजेंसियां चौकन्नी हो गई हैं। खुफिया एजेंसियों का कहना है कि जैश-ए-मोहम्मद ने कुछ आतंकियों को दिल्ली भेज भी दिया है। इसको लेकर पूरी राजधानी में अलर्ट जारी कर दिया गया है।
दिल्ली पुलिस ने इनपुट मिलने के बाद राजधानी में तलाशी अभियान भी शुरू कर दिया है। जगह-जगह बैरीकेड लगाकर वाहनों की तलाशी ली जा रही है।

 पाकिस्तान स्थित आतंकवादी संगठन 22 दिसंबर को दिल्ली के रामलीला मैदान में पीएम नरेंद्र मोदी की होने वाली रैली को निशाना बना सकते हैं। इस अलर्ट को लेकर खुफिया एजेंसियों ने विशेष सुरक्षा समूह(एसपीजी) और दिल्ली पुलिस को इसको लेकर सूचित किया है। पीएम मोदी 22 दिसंबर को दिल्ली में अनधिकृत कॉलोनियों को नियमित करने के लिए केंद्र की चाल के मुद्दे पर भारतीय जनता पार्टी द्वारा आयोजित एक मेगा रैली को संबोधित करने के लिए रामलीला मैदान पहुंच रहे हैं। रैली में एनडीए के विभिन्न मुख्यमंत्रियों और कैबिनेट मंत्रियों के साथ पीएम मोदी मौजूद रहेंगे।
केंद्रीय एजेंसियों ने पीएम मोदी की सुरक्षा को लेकर सुरक्षा प्रतिष्ठानों को जरूरी निर्देश जारी किए हैं।इसमें प्रधानमंत्री की सुरक्षा के लिए ब्लू बुक में निहित निर्देश को पूरी तरह से लागू करने के लिए कहा गया है।एजेंसियों ने कहा कि उनके पास नए इनपुट हैं कि रामलीला मैदान में प्रधानमंत्री को जान से मारने की साजिश के तहत भारत में आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के गुर्गों को जुटाया गया है, जहां भारी संख्या में मीडियाकर्मियों की भारी भीड़ और मौजूदगी की उम्मीद है।
खुफिया एजेंसियों के अनुसार, 'नागरिकता संशोधन अधिनियम (CAA) , राम जन्मभूमि का फैसला और  अनुच्छेद 370 और 35A को हटाए जाने के अलावा पाकिस्तान में भारतीय वायुसेना द्वारा जैश के आतंकी ठिकानों पर हमले से आतंकियों में बौखलाहट है। इस कारण ऐसे हमले की धमकी दी जा रही है।'