Breaking News

सीवान : परिवार के सुख-समृद्धि की कामना के साथ पूरा हुआ छठ महापर्व


हसुआँ/सीवान [प्रियंका प्रसाद] :सीवान जिले के हसुआँ गांव में छठ पूजा धूमधाम से मनाया गया। हसुआँ गांव के फूलनी पोखर के तट पर श्रद्धालुओं द्वारा सूर्य देव की पूजा-अर्चना कर परिवार की सुख-समृद्धि व सभी के हित की कामना की गई।
शनिवार को डूबते सूर्य को अर्घ्य देने के बाद रविवार को छठ व्रतियों ने उगते सूर्य को अर्घ्य दिया। 36 घंटों तक निर्जला-निराहार रहे छठ व्रतियों ने इसके बाद पारण कर अन्न जल ग्रहण किया। छठ महापर्व में शुद्धता और नियम का विशेष ध्यान रखा जाता है। छठ घाट और सड़कों की सफाई सभी हसुआँवासियों ने मिलजुलकर की।
दिवाली के बाद कार्तिक मास की शुक्ल पक्ष की चतुर्थी तिथि से ही देवी छठ माता की पूजा-अर्चना शुरू हो जाती है और सप्तमी की सुबह तक चलती है। छठ संभवत: एकमात्र त्योहार है, जिसमें डूबते सूरज की पूजा की जाती है। मान्यता है कि छठ पर्व शरीर में होने वाले किसी भी प्रकार के चर्म रोग, यहां तक कि कुष्ठ जैसे भयानक चर्म रोग से मुक्ति के लिए भी किया जाता है।
पौराणिक कथाओं के अनुसार, भगवान श्रीकृष्ण के पुत्र साम्ब ने भी कुष्ठ रोग से मुक्ति के लिए सूर्य देव की आराधना की थी। सिवान के हसुआँ गांव के फूलनी पोखर के तट पर छठ पूजा के लिए भव्य घाट सजाया गया जिसमें सैंकड़ों महिलाओं ने सूर्य देव की विधिवत पूजा अर्चना की।