Web Sol : Complete Website Solution

Breaking News

अयोध्या फैसला : डीआईजी विकास वैभव की अपील - उच्चतम न्यायालय के निर्णय का हृदयपूर्वक सम्मान करें

सेंट्रल डेस्क [सुशान्त साईं सुन्दरम] :
शनिवार, 9 नवंबर को सर्वोच्च न्यायालय अयोध्या मामले पर फैसला सुनाने जा रहा है। इसके मद्देनजर भागलपुर डीआईजी विकास वैभव ने न्यायालय के निर्णय का सम्मान करने की अपील की है। पढ़ें क्या कुछ कहा है उन्होंने :

ऐतिहासिक अयोध्या विवाद पर प्रातः काल में ही माननीय सर्वोच्च न्यायालय के संविधान पीठ का निर्णय अपेक्षित है । इस अवसर पर सभी भारतीय बंधुओं एवं भगिनियों से हार्दिक अनुरोध एवं अपेक्षा है कि राष्ट्रहित में कृपया माननीय उच्चतम न्यायालय के निर्णय का हृदयपूर्वक सम्मान कर राष्ट्र के उज्ज्वलतम भविष्य को अवश्य गौरवान्वित करें । यह अवसर किसी पक्ष के विजय अथवा पराजय का ना होकर एक ऐसे ऐतिहासिक द्वंद की परिणति मात्र है जिसने सदियों से सहिष्णुता के उत्कर्ष को बाधित किया है और आज जब सर्वोच्च न्यायानुकूल निर्णय का समय आ गया है तब निश्चित रूप से इसे न्यायहित में अत्यंत सौहार्दपूर्ण वातावरण में सर्व-स्वीकार्यता मिलनी ही चाहिए । उभरती परिस्थितियों में उपद्रवी तत्त्वों के लिए यह संदेश देना भी उचित होगा कि इस अवसर पर निश्चित रूप से संयम का प्रदर्शन करें चूंकि उभरते नव भारत की विकास यात्रा हेतु यह अत्यंत आवश्यक है कि किसी प्रकार के पारस्परिक अवरोधक ना हों तथा सहिष्णुता का भाव राष्ट्र को सदैव सुदृढ़ करे । यह सुनिश्चित करना सभी भारतीयों का राष्ट्रीय दायित्व है ।
पुलिस परिवार भी इस अत्यंत महत्वपूर्ण अवसर पर राष्ट्रीय दायित्वों के प्रति दृढ़ संकल्पित एवं सजग है तथा किसी भी प्रकार की अप्रिय घटना को कारित करने के प्रयास अथवा यहां तक कि सोशल मीडिया पर भी किसी प्रकार की अप्रिय आपत्तिजनक पोस्ट पर तत्काल अत्यंत कठोर कार्यवाही हेतु तत्पर है । अपने कृत्यों एवं परस्पर सौहार्द के वातावरण से इस अवसर पर हमें राष्ट्ररूप में यह सिद्ध कर देना चाहिए कि न्याय व्यवस्था में हमारी असीम आस्था है तथा किसी प्रकार के दिग्भ्रामक तत्त्वों से यह राष्ट्र प्रभावित होने वाला नहीं है ।
जय हिंद !