Breaking News

अयोध्या विवाद : एआईएमपीएलबी का मीडिया पर प्रोपेगेंडा फैलाने का आरोप


लखनऊ : ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड (एआईएमपीएलबी) ने कहा है कि मीडिया का एक धड़ा सुप्रीम कोर्ट में विचाराधीन अयोध्या मुद्दे पर रिपोर्टिग करने के दौरान भीड़ को उकसाने और दुष्प्रचार करने में संलिप्त है। यहां एक बयान जारी करते हुए एआईएमपीएलबी ने कहा, "मीडिया, विशेषकर इलेक्ट्रॉनिक मीडिया का एक बड़ा धड़ा भीड़ को उकसाने और प्रोपेगेंडा (दुष्प्रचार) फैलाने में संलिप्त है। ऐसी रिपोर्टिग से देश के नागरिकों में नफरत फैलाने और दुश्मनी फैलने में मदद मिलती है।"

कहा जा रहा है कि प्रेस के कुछ हिस्से को छोड़कर एक बड़े वर्ग ने अयोध्या मामले की रिपोर्टिग ऐसे तरीके से करनी शुरू कर दी है, जो रिपोर्टिग में तटस्थता के मूल सिद्धांत का उल्लंघन है।

बोर्ड ने मीडिया से राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद भूमि विवाद की कवरेज के लिए न्यूज ब्रॉडकास्टिंग स्टैंडर्ड एसोसिएशन (एनबीएसए) द्वारा जारी दिशानिर्देशों का पालन करने का आग्रह किया।

बयान में कहा गया, "सुप्रीम कोर्ट में विचाराधीन मामले की रिपोर्टिग प्रेस की स्वतंत्रता की आड़ में कानूनी नजरिए से बिना किसी विशेषण, व्यक्तिगत विचार, पूर्वाग्रह, पक्षपातपूर्ण या भावुक संदर्भ बनाए होनी चाहिए।"

सुप्रीम कोर्ट अयोध्या विवाद पर अगले 10 दिनों में फैसला दे सकता है। इस मुद्दे पर कोर्ट में 40 दिनों तक प्रतिदिन सुनवाई हुई थी।