Breaking News

दरौंदा उपचुनाव : एनडीए के भीतरघात से राजद प्रत्याशी को मिल रहा बल

पटना [अनूप नारायण] :
दरौंदा विधानसभा उपचुनाव में राजद उम्मीदवार उमेश सिंह को एमवाई समीकरण के साथ ही साथ सवर्ण वोटरों का भी अपार जनसमर्थन मिल रहा है। दरौंदा के  एनडीए उम्मीदवार को लेकर भाजपा और जदयू के बीच फूट पड़ गई है। पूर्व सांसद ओमप्रकाश यादव एमएलसी टुना पांडे जदयू उम्मीदवार का विरोध कर रहे हैं।
तो दूसरी तरफ अवध बिहारी चौधरी, परमात्मा राम, हिना शहाब समेत राजद, हम, राष्ट्रीय लोक समता पार्टी, मुकेश साहनी की पार्टी वीआईपी एकजुट होकर उमेश सिंह को जिताने की अपील कर रहे है। बुधवार को उमेश सिंह ने अपने समर्थकों के साथ दरौंदा विधानसभा क्षेत्र के विभिन्न इलाकों का दौरा कर लोगों से 12 साल बनाम आठ माह के लिए जन समर्थन मांगा।
जलालपुर, पकवलिया, करसौत, पिनरथु, रामगाढा, रसूलपुर, रामसापुर, बगौरा, हरसड, सिरसाव, छेरहि, कोड़ारी, धनौती, पांडेयपुर, बखरी, भागर, चैनपुर, मेंहदार, भिखपुर, हसनपुरा, सिसवन, हुसेना, बंगरा, जगदीशपुर, बघौना, सहचानी मे राजद उम्मीदवार उमेश सिंह की नौकर सफाया है। जिसमें सभी समाज के लोगों ने बढ़ चढ़कर उनके समर्थन करने की घोषणा की है। क्षेत्र भ्रमण के दौरान उमेश सिंह लोगों से एक बार मौका देने की अपील कर रहे हैं। सामाजिक न्याय के समीकरण, क्षेत्र में व्याप्त भ्रष्टाचार रंगदारी विकास कार्यों में भाई-भतीजावाद को समाप्त करने के नारे के साथ यह लोगों से लालटेन छाप पर बटन दबाने की भी अपील कर रहे हैं।
क्षेत्र भ्रमण के दौरान पत्रकारों से बातचीत करते हुए उमेश कुमार सिंह ने कहा कि उनका मुकाबला किसी व्यक्ति विशेष, किसी दल विशेष से नहीं बल्कि उन सभी तत्वों से है जिन्होंने क्षेत्र के विकास को अवरुद्ध किया है और अपना जेब भरा है, लोगों को पगलाया है। अपराध को बढ़ावा दिया है। युवाओं को अपराधी बनाया है, क्षेत्र के विकास मॉडल को रंगदारी मॉडल के रूप में बदला है। क्षेत्र की जनता से मिल रहे अपार जन समर्थन को देखते हुए लगता है कि इस बार यहां की जनता शासक नहीं सेवक चुनेगी।