Breaking News

धरने पर ऐश्वर्या, तार-तार हो रही इज्जत, क्या बचाने आयेंगे कृष्ण के शिष्य तेजप्रताप?

पटना : राबड़ी आवास के बाहर पारिवारिक विवाद में ऐश्वर्या का धरना जारी है। वे अपने माता और पिता के साथ इंसाफ की गुहार लगाते हुए धरने पर बैठ गई हैं। राबड़ी आवास का दरवाजा बंद है। भीतर पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी, पूर्व उपमुख्यमंत्री व प्रतिपक्ष के नेता तेजस्वी यादव और सांसद मीसा भारती मौजूद हैं।

तेज प्रताप की पत्नी ऐश्वर्या ने मीसा भारती और राबड़ी देवी पर गंभीर आरोप लगाए हैं। उन्होंने मीडिया को बताया कि पिछले तीन महीनों से उनके मायके से आया खाना ही वे खाती हैं। राबड़ी आवास में उनका खाना बंद किया हुआ है। वे सिर्फ पानी लेने के लिए ससुराल के रसोई घर जाया करती हैं। उनके मायके से जो गाड़ी आती है, उसे भीतर नहीं आने दिया जाता है। इसलिए अगर उन्हें कहीं बाहर जाना होता है तो वे बाहर तक पैदल आकर मायके द्वारा भेजी गई गाड़ी पर चढ़ती हैं।
ऐश्वर्या ने बताया कि पिछली रात उन्होंने कुछ खाया नहीं था। उनके पास मायके से आया हुआ खाने का कोई अंश बचा हुआ भी नहीं था। वे कुछ खाने अथवा पीने का पानी लेने के उद्देश्य से ससुराल के रसोई घर में जाना चाहती थीं। रसोई घर में ताला लगा था। उन्होंने राबड़ी देवी से रसोई घर की चाबी मांगा। राबड़ी देवी ने चाबी उनके पास नहीं होने की बात कहकर देने से मना कर दिया। तब ऐश्वर्या ने रसोई घर के बंद दरवाजे का अपने मोबाइल में वीडियो बनाया। उन्हें वीडियो बनाते देख राबड़ी देवी बिगड़ गई एवं उनके निर्देश पर उनका गार्ड ऐश्वर्या का मोबाइल छीनने का प्रयास करने लगा। ऐश्वर्या ने मीसा भारती पर भी धक्का देने का आरोप लगाया। ऐश्वर्या ने बताया कि इन परिस्थितियों में वह बचने के उद्देश्य से किसी तरह भागते हुए दरवाजे के बाहर आ गई।
पूरी घटना के दौरान ऐश्वर्या ने ससुराल के रसोई घर के बंद दरवाजों की वीडियो को अपने माता-पिता के पास व्हाट्सअप भी कर दिया, एवं मोबाइल पर कॉल करके अपने माता-पिता को बुलाया।
ऐश्वर्या ने कहा कि इतने बड़े घर में अगर एक आदमी को खाना और पानी नहीं दिया जा रहा है तो यह अमानवीय भी है।

ऐश्वर्या ने कहा कि लोकसभा चुनाव के परिणाम के बाद ससुराल के सदस्यों के व्यवहार में काफी नकारात्मक बदलाव देखने को मिल रहा है। राबड़ी देवी एवं मीसा भारती चाहती हैं कि ऐश्वर्या किसी तरह घर छोड़कर चली जाए। ऐश्वर्या ने कहा कि अभी सिर्फ तलाक की अर्जी दी गई है, तलाक हुआ नहीं है। वे संबंधों को बचाने की कोशिश कर रही हैं। इसलिए वे ससुराल में रहने को ज्यादा सुरक्षित महसूस करती हैं ताकि उनकी सास राबड़ी देवी यह देख-समझ सकें कि ऐश्वर्या भी संबंधों को बचाने के लिए तत्पर हैं।
हालांकि ऐश्वर्या ने तेजस्वी के बारे में हमेशा सहयोगात्मक एवं सकारात्मक बने रहने की बात कही, किन्तु साथ में यह भी कहा कि पिछले तीन महीने से ससुराल में खाना नहीं मिलने और मायके से खाना आने के मुद्दे पर तेजस्वी भी हमेशा चुप्पी बनाए रखे।
दूसरी तरफ मीसा भारती ने आज ही दिल्ली में अपने सरकारी आवास पर मीडिया से बातचीत में कहा कि वे दिल्ली में हैं, फिर यह कैसे संभव है कि वे पटना में ऐश्वर्या के साथ धक्का-मुक्की भी करें, जैसा कि ऐश्वर्या ने आरोप लगाया है।
मीसा के बयान से लगता है कि शायद ऐश्वर्या ने आज मीडिया के सामने जो बयां किया, उसमें आज की घटना को बताते हुए पूर्व की कुछ घटनाओं को जोड़ दिया। ऐश्वर्या की यह नासमझी उन्हें झूठा साबित करने के लिए पर्याप्त है। उनकी छोटी सी यह भूल उनके ससुराल वालों को अन्य गलतियों पर भी पर्दा डालने में काम आयेगी, और उल्टे ऐश्वर्या को ही सामाजिक तौर पर दोषी दिखाने में सुविधा देगी।

खबर लिखे जाने तक उपलब्ध सूचना के अनुसार ऐश्वर्या अपने माता-पिता के साथ राबड़ी आवास के बाहर धरने पर बैठी हैं। ऐश्वर्या के माता-पिता उनके ससुराल वालों के साथ बातचीत कर वर्तमान मामलों को सुलझाना चाहते हैं। ऐश्वर्या भी हर हालात में राबड़ी आवास में बने रहना चाहती हैं ताकि कोर्ट में उन्हें बल मिले।
ऐश्वर्या की तार-तार होती इन परिस्थितियों में देखना अब यह है कि कभी कृष्ण के भक्त, तो कभी शिव शंकर के रूप में दिखने वाले ऐश्वर्या के पति तेज प्रताप इन हालातों में उन्हें बचाने आते हैं या नहीं?
[पटना से धनंजय कुमार सिन्हा की रिपोर्ट]