Breaking News

गिद्धौर : कछुआ चाल में चल रही CM का 7 निश्चय योजना, भर रही है रसूखदारों की झोली



अभिषेक कुमार झा एवं धनंजय कुमार 'आमोद' की संयुक्त रिपोर्ट】:-

सूबे में विकास के बीज बोने के लिए सरकार ने कई महत्वकाक्षी योजनाएं चला रखी है, जिसमे एक सात निश्चय योजना भी है। इस योजना ने विकास को बढ़ावा तो दिया पर अभी भी कई ऐसे जगह हैं जहां अपेक्षा से बहुत कम परिणाम देखने को मिल रहे हैं। बात करते हैं गिद्धौर प्रखंड की जहां 8 पंचायतों में कुल 94 वार्ड है।इन पंचायतों के आधे से अधिक वार्ड में सात निश्चय योजना का जो हश्र हुआ है, उससे इस योजना में सेंध लगता दिख रहा है। परिणाम स्वरूप प्रखंड भर के आम लोगों को अब यह योजना मुंह चिढ़ा रही है।
यहां बताते चलें कि सरकार के द्वारा घोषित घर घर नल जल योजना गिद्धौर प्रखंड में कहीं कहीं फ्लॉप होती दिखाई दे रही है। किसी पंचायत के वार्ड में नल जल अधूरा है तो कहीं बोरिंग कर छोड़ दिया गया है।

- - - - ---    --  --- - - 

- गिद्धौर के पंचायतवार नल जल योजना की स्थिति-

1). रतनपुर : -  14 वार्ड कार्य अधूरा
2 ). कुन्धुर :- 8 वार्ड अधूरा
3).  पूर्वीगुगुलडीह :- 9 अधूरा
4 ). सेवा :-  14 वार्ड 4 वार्ड में सफल नही
5).  गंगरा :-  09 वार्ड एक सफल बाकी अधूरा।
6). मौरा :-  11 वार्ड लगभग अधूरा।
7). कोल्हुआ :-  13 वार्ड 2 वार्ड में कार्य बाकी बन्द।
8). पतसंडा :- हाल जस की तस बनी है।

हालांकि पतसन्डा में योजना के तहत काम हुए है लेकिन बात जब गुणवत्ता की आती है तो फिर सवालिया निशान लग जाता है।
वहीं सात निश्चय योजना को लेकर विभागीय पदाधिकारी विगत पांच वर्षो से कुम्भकर्न निंद्रा में सोई है।
- - - - - - - - - - - -   - - - - - -

-जनप्रतिनिधियों ने भी स्वीकारा-

इस बावत सेवा पंचायत के मुखिया परमेश्वर पंडित व कोल्हुआ पंचायत के मुखिया प्रतिनिधि केदार तांती बताते है कि किसी भी वार्ड में पूरी तरह से घर नल योजना नही हो पा ऱही है। सभी जगह अधूरा पड़ा है।
- - - - - - - - - - - - - - - - - - -

यदि विभागीय स्तर पर जिले के अधिकारियों द्वारा इस योजना की निष्पक्ष एवं बारीकियों से जांच की जाय तो बड़े पैमाने पर अनियमितता उजागर हो सकती है।