Breaking News

गिद्धौर : मुस्लिम धर्मावलंबियों ने मनाया मुहर्रम, अल्लाह से मांगी अमन चैन की दुआ


न्यूज़ डेस्क | अभिषेक कुमार झा】 :-

अन्याय के खिलाफ जंग लड़ने का संदेश देने वाला त्योहार मुहर्रम गिद्धौर प्रखंड क्षेत्र के मुस्लिम समुदायों के बीच शांति एवं सौहार्दपूर्ण वातावरण में संपन्न हुआ।  मुस्लिम धर्मावलंबियों ने नमाज अदा कर गिद्धौर स्थित जामा मस्जिद में अल्लाह ताला से अपने परिवार के अमन चैन की दुआ मांगी।


नवादा से तिरंगे वस्त्र में निकली तजिया आकर्षण का केंद्र बनी। वहीं, मंगलवार को गिद्धौर के जामा मस्जिद से तजिया के साथ सिपल का जुलूस निकाला गया जिसमें सैकड़ों मुस्लिम भाईयों के साथ-साथ हिन्दू भाईयों ने भी भाग लिया।


संध्या में मुहर्रम को लेकर मस्जिद मसजीद से महाराजा गढ़ होते हुए कलाली रोड से जमुई मुख्यमार्ग का भ्रमण कर गिद्धौर लॉर्ड मिंटो टावर होते हुए गिद्धौर थाना के सामने से तारडीह करवाल तक जुलूस में भाग ले रहे युवकों ने लाठी, भाला, तलवार आदि से हैरतअंगेज कलाबाजी दिखाई।
गिद्धौर जामा मस्जिद के ऐमाम मो. नाजिम अंसारी ने बताया कि मुहर्रम पर्व समाज को अधर्म पर धर्म के विजय का संदेश देती है।


कमिटी के मेंबर जकीर खान, मो.ईसराफिल,   मो.असगर, मो. शाहिद, मो.संजु, मो. पालटन आदि ने बताया कि पैगम्बर हजरत मोहम्मद साहब के नवासे हजरत ईमाम हुसैन उनके परिजनों व साथियों को करबला के मैदान में यजीद की फौज ने शहीद कर दिया था। मुहर्रम में उन्हीं शहीदों को श्रद्धाजलि देकर उनका नमन किया जाता है।
वहीं मो. मुमताज़ ने कहा कि ये ऐतिहासिक दिन पूरी दुनिया को मानवता का संदेश देने के साथ ही हर बुराई से बचने और अच्छाई को अपनाने के लिए प्रेरित करती है।