Merit Go

Breaking News

झाझा स्टेशन पर अनाधिकृत वेंडर ने ड्यूटी जाने वाले RPF पर किया हमला

यहाँ चलती है अनधिकृत वेंडरो की मनमानी , दो हजार प्रति माह पर होती है बहाली...

न्यूज़ डेस्क (झाझा/जमुई) :-

ड्यूटी जाने के दौरान आरपीएफ  जवान के साथ मारपीट का मामला प्रकाश में आया है।आरपीएफ जवान प्रशांत कुमार रेलवे सुरक्षा बल झाझा में कार्यरत है । घायल जवान कहते हैं कि वे बैरेक से आरपीएफ पोस्ट झाझा अपने डयूटी जा रहे थे। 


अचानक पिपराडीह ( झाझा ) निवासी वासुदेव रावत के पुत्र बन्टी रावत (34 वर्ष) रेलवे व्रीज के नीचे पोंटिको में पीछे से हमला कर दिया। अचानक हुए हमले से आरपीएफ जवान घायल हो गया। उन्होंने बताया कि 13 सितम्बर को रेलवे सुरक्षा बल झाझा के द्वारा अनाधिकृत वेंडरों के विरुद्ध अभियान चलाया जा रहा था, जिसमें उक्त व्यक्ति की गिरफ्तारी हुई थी , एवं रेलवे सुरक्षा बल झाझा के कांड संख्या- 303/19 दिनांक 13/09/2019, धारा 144 रेल अधिनियम कायम किया गया था ।
वह वक्ति हमला करते हुए यह बार-बार कह रहा था कि कल तुम मेरा एक हजार रूपया का जुर्माना लगवाया था एवं जेब में रखा पांच सौ रुपये छीन लिया है । 

उसी दरमियान जब वहां के लोगों ने देखा कि आरपीएफ के जवान को एक अनाधिकृत भेंडर के द्वारा बार-बार हमला किया जा रहा है, तो वहां के लोग अनाधिकृत भेंडर के उपर टूट पड़े तभी आरपीएफ जवान मो. सेराज अंसारी वहां पहुंच गये, और उसे भीड़ से छुड़ा कर के अपने कब्जे में ले लिया।
उक्त घायल जवान का ईलाज रेफरल अस्पताल झाझा में किया गया। इस संदर्भ में जी आर पी थाना झाझा में मामला दर्ज किया गया, कांड संख्या 136/14-09-2019 एवं 341/323/379/506/353 ए एस आई जितेन्द्र कुमार कश्यप/थाना अध्यक्ष आरिफ खान ने मामला दर्ज किया है ।
इधर, सूत्रों के हवाले से खबर है कि रेलवे पुलिस के द्वारा अनाधिकृत वेंडरों को 2000 रुपये प्रति माह बहाल किया जाता है। न्हीं देने वालों पर कार्रवाई होती है।
Input - (अभिषेक कुमार निराला)