Breaking News

जमुई : दलित सेना के नवनियुक्त जिलाध्यक्ष रविशंकर पासवान का हुआ अभिनंदन

जमुई [सुशान्त सिन्हा] :
रविवार को जमुई स्थित लोक जनशक्ति पार्टी जिला प्रधान कार्यालय में दलित सेना जमुई इकाई द्वारा दलित सेना के नवनियुक्त जिलाध्यक्ष सह प्रदेश महासचिव रविशंकर पासवान का मनोनयन होने पर स्वागत सह अभिनंदन समारोह का आयोजन किया गया। जिसमें दलित सेना जमुई के कार्यकर्ताओं द्वारा नवनियुक्त जिलाध्यक्ष को माला पहनाकर एवं बुके देकर की गई। साथ ही सभी ने उन्हें बधाई देते हुए खुशी व्यक्त की।
दलित सेना जमुई के कार्यकर्ताओं ने कहा कि विगत 2019 लोकसभा चुनाव में लोक जनशक्ति पार्टी के कार्यकर्ताओं ने बेहतर कार्य किया। कार्यकर्ताओं की क्षमता को देखते हुए सांसद चिराग पासवान ने महत्त्वपूर्ण जिम्मेवारी सौंपने का फैसला किया जिसके बाद रवि शंकर पासवान को लोजपा के प्रदेश महासचिव एवं दलित सेना का जमुई जिलाध्यक्ष मनोनीत किया गया।
दलित सेना के नवनियुक्त जमुई जिलाध्यक्ष शंकर पासवान ने अपने संबोधन में कहा कि लोक जनशक्ति पार्टी एक राष्ट्रीय पार्टी है। लोक जनशक्ति पार्टी के गठन होने के पूर्व दलित सेना का गठन लोजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष रामविलास पासवान द्वारा किया गया था। दलित सेना लोक जनशक्ति पार्टी की मातृत्व पार्टी कही जाती है। आगे उन्होंने कहा कि दलित सेना का मूल स्वरूप जो 1990 में था उसी स्वरूप को जमुई जिला में पुनः स्थापित करना हमारा महत्वपूर्ण लक्ष्य होगा। आगे उन्होंने कहा कि जिस उद्देश्य से दलित सेना के बिहार प्रदेश अध्यक्ष संजय पासवान ने मुझे जमुई जिलाध्यक्ष का पदभार सौंपा है उस पर खरा उतरने का काम करूंगा। संगठन का विस्तार कर बूथ स्तर तक ले जाने का प्रयास करूंगा।
मौके पर युवा लोजपा के जिलाध्यक्ष ई. निर्भय सिंह, जिला सचिव दीपक सिंह, दलित सेना जमुई नगर अध्यक्ष गुड्डू पासवान, दलित सेना नेता मनोज पासवान, आईटी सेल लोकसभा मिडिया प्रभारी गौरव कुमार, आईटी सेल जिला उपाध्यक्ष मिथलेश पासवान, दलित सेना बरहट प्रखंड अध्यक्ष मिन्टु पासवान, जमुई प्रखंड अध्यक्ष दानी पासवान, दलित सेना नेता सुदामा पासवान, युवा लोजपा जमुई प्रखंड अध्यक्ष गौतम पासवान, लोजपा नेता चंदन पासवान, बबन पासवान, लोजपा नेता सतीश रावत, प्रवीण कुमार, संजीव कुमार उर्फ प्रमोद पासवान सहित दर्जनों कार्यकर्ता मौजूद रहे।
साथ ही कार्यक्रम के दौरान साकिन्द्र रविदास एवं बबलू कानपुर दलित सेना की सदस्यता ग्रहण कराई गई एवं दलित सेना में स्वागत किया गया।