Merit Go

Breaking News

गिद्धौर महोत्सव के सफल संचालन को लेकर DM ने की समीक्षा बैठक, दिए आवश्यक दिशा-निर्देश

[न्यूज़ डेस्क | अभिषेक कुमार झा] :-

कला संस्कृति एवं युवा विभाग के सौजन्य से होने वाले दो दिवसीय गिद्धौर सांस्कृतिक महोत्सव की तैयारी एवं इसके विधि व्यवस्था को लेकर प्रखंड कार्यालय के सभा भवन में आयोजन समिति के सदस्यों की बैठक डीएम धर्मेंद्र कुमार की अध्यक्षता में हुई।


बैठक में प्रखंड पदाधिकारियों व आयोजन समिति के गठन को लेकर संबंधित पदाधिकारियों ने विचार-विमर्श किया। महोत्सव से संबंधित विधि व्यवस्था को लेकर भागीदारी निभाने को लेकर इस बैठक में डीएम धर्मेंद्र कुमार ने आयोजन समिति के सदस्य को लेकर अपनी बात रखी। वहीं महोत्सव को ध्यान में रखते हुए डीएम धर्मेन्द्र कुमार ने गिद्धौर के प्रखंड विकास पदाधिकारी गोपाल कृष्णन, अंचलाधिकारी अखिलेश प्र. सिन्हा को मुख्य रूप से विधि-व्यवस्था को लेकर जिम्मेदारी सौंपी।


बुधवार को आयोजित इस समीक्षा बैठक में गिद्धौर महोत्सव को लेकर इसके कार्यक्रम की रूपरेखा पर भी चर्चा की गई।  महोत्सव में कार्यक्रम की शोभा बढ़ाने वाले सुपर स्टार कलाकारों को नामित करने पर भी प्रस्ताव रखा गया। बैठक में मौजूद पूर्व मंत्री दामोदर रावत ने भी महोत्सव के सफल संचालन तथा विधि-व्यवस्था से संबंधित अपने विचारों को सबके समक्ष रखा। समीक्षा बैठक के समाप्तोपरांत डीएम धर्मेन्द्र कुमार ने प्रखण्ड कार्यालय परिसर में वृक्षारोपण किया।


बैठक के दौरान जिलाधिकारी ने बीडीओ गोपाल कृष्णन को कड़ी फ़टकार लगाते हुए सात निश्चय योजना के कार्यों में तेजी लाने पर बल देते हुए प्रखंड क्षेत्रभर में विकास कार्य से संबंधित अपडेट जानकारी एकत्रित करने का निर्देश दिया।
इस मौके पर डीसीएलआर म. अतहर,  पूर्व मंत्री दामोदर रावत, प्रखंड प्रमुख शंभु केशरी, डीएसपी रामपुकार सिंह, अनुमंडल पदाधिकारी लखिन्द्र पासवान, जिपंरा पदाधिकारी संतोष कुमार, गिद्धौर थाना अध्यक्ष आशीष कुमार, समिति के सदस्य पंकज सिंह, गुरुदत्त प्रसाद आदि मौजूद रहे।
बताते चलें, गिद्धौर प्रखंड कार्यालय से  दिनांक 27/07/2019 को निर्गत पत्रांक 722 के माध्यम से बीडीओ गोपाल कृष्णन ने गिद्धौर सांस्कृतिक महोत्सव - 2019 के सफल संचालन हेतु आयोजित समीक्षात्मक बैठक में भाग लेने को लेकर विशेषतः नौ गणमान्यों को सूचनाएं प्रेषित की गई थी। इन नौ गणमान्यों में जमुई सांसद चिराग पासवान, व झाझा विस विधायक डॉ. रविन्द्र यादव भी नामित थे, पर इस समीक्षात्मक बैठक में उनकी अनुपस्थिति देखी गयी।