Merit Go

Breaking News

गिद्धौर के बाद अब बरहट में योगदान देंगे प्रधान लिपिक राजेन्द्र पासवान

[न्यूज़ डेस्क | अभिषेक कुमार झा] :-

जमुई डीएम के निर्देश पर तीन वर्ष से अधिक पदस्थापित लिपिक के स्थान्तरण अब अपने अंतिम चरण की ओर बढ़ रहा है। दिनांक 27/06/2019 को ज्ञापांक 263  के अनुसार स्थान्तरण सूची में कुल 52 नाम शामिल हैं। इन 52 नामों में एक नाम राजेन्द्र पासवान का है। जो प्रखंड कार्यालय में 14/07/2016 से प्रधान लिपिक के रूप में कार्यरत हैं। 


डीएम के आदेश के बाद अब श्री पासवान जमुई जिले के बरहट प्रखंड कार्यालय में अपना योगदान देंगे। बल्कि यूं कहें कि अब इनका हंसता हुआ चेहरा गिद्धौर में नहीं बल्कि बरहट प्रखंड कार्यालय के कर्मियों को देखने मिलेगा।
खुशमिजाज व विनम्र स्वभाव से प्रखंड कार्यालय आने वाले फरियादी इन्हें राजेन्द्र बाबू कहने लगे थे। प्रखंड कार्यालय में अपने निजी काम से आने वाले कुछ ग्रामीणों ने बताया कि राजेन्द्र बाबू जैसे हंसमुख व खुशमिजाजी लिपिक का मुख ये गिद्धौर फिर कभी नही देख पायेगा।  गिद्धौर प्रखंड कार्यालय में कार्यरत कर्मी भी राजेन्द्र बाबू से हमेशा ख़ुश और संतुष्ट नजर आते थे।

इस संदर्भ में गिद्धौर बीडीओ चिरंजीव पाण्डेय ने कहा कि ट्रांसफर एक अनिवार्य विभागीय प्रक्रिया है, जिससे हर कर्मी को गुजरना पड़ता है। बीडीओ ने प्रधान लिपिक राजेन्द्र बाबू की प्रशंसा करते हुए कहा कि उनके कार्यकाल की जितनी तारीफ की जाए कम है। उनकी सकारात्मक सोच की हमेशा मिसाल दी जायेगी । गिद्धौर में कार्यकाल के दौरान राजेन्द्र बाबू ने इन तीन वर्षों में अपनी जिम्मेदारियों को निष्ठा व ईमानदारीपूर्वक निर्वाहन करने में कोई कसर नहीं छोड़ी। उन्होंने कार्यालय कर्मचारियों को परिवार का सदस्य मान कर गिद्धौर में अपना योगदान दिया।
वहीं गिद्धौर वासियों के परस्पर स्नेह व सहयोग के लिए उद्गार व्यक्त करते हुए प्रधान लिपिक राजेन्द्र बाबू ने कहा कि गिद्धौर में जो मान, सम्मान, व सत्कार उन्हें मिला है उसके लिए वे ऋणी रहेंगे। उन्होंने अपने सेवाकाल के दौरान बीडीओ श्री पाण्डेय से मिले सहयोग और अनुभव के लिए उनके प्रति आभार व्यक्त किया।
लिपिक राजेन्द्र बाबू ने बताया कि जो आपसी भाईचारे की भावना से गिद्धौर में अपना योगदान दिया वो बरहट में भी जारी रहेगा।
-------------- -     --------------------      --------------------
इनपुट :- धनन्जय कुमार 'आमोद'