बड़ी खबरें

जानिए क्यों खास हैं गंगा मुक्ति आंदोलन के प्रणेता विकास चंद्र उर्फ गुड्डू बाबा


पटना [अनूप नारायण] :

शनिवार की शाम बाबा के सामाजिक कार्यों की पड़ताल के क्रम में हम जा पहुंचे थे पटना के दीघा कुर्जी बालू पर बाबा के निवास स्थल पर. जनहित याचिकाओं के माध्यम से सामाजिक समस्याओं को दुरुस्त करने में लगे बाबा गंभीर रूप से बीमार होने के बावजूद न रुकते हैं न थकते है.

सामाजिक अपराध करने वाले माफियाओं से लड़ते हैं तो दूसरी तरफ लालफीताशाही और घपलेबाजों के खिलाफ भी लड़ते हैं. लड़ाई ऐसी जिससे पूरा बिहार सुकून महसूस करता है. बात चाहे पटना को अतिक्रमण मुक्त कराने की हो चाहे गंगा को बचाने की बाबा सीना ताने हार न माने की तर्ज पर लगे रहते हैं.

बिहार के सबसे बड़े सरकारी अस्पताल पीएमसीएच की पूरी व्यवस्था को सुधारने का श्रेय अगर किसी एक इंसान को जाता है तो गुड्डू बाबा को. निस्वार्थ भावना से समाज की लड़ाई लड़ने वाले बाबा के दुश्मन भी कम नहीं इसलिए पटना हाई कोर्ट ने इन्हें सरकारी अंगरक्षक मुहैया कराया है.

बाबा इन दिनों बिहार के प्रत्येक जिले में समाजिक योद्धा तलाश रहे हैं जो उनके द्वारा चलाए जा रहे अभियान को आंदोलन का स्वरूप देंगे. बाबा जून में सिवान व बेतिया में समाजिक योद्धा सम्मान करने जा रहे हैं.