Breaking News

चिराग की रौशनी से जगमगाएगा जमुई, शिलान्यास से धरातल पर उतरेंगी ये योजनाएं


लोकसभा चुनाव परिणाम के बाद जमुई संसदीय सीट के सिकंदर बने चिराग पासवान पर जमुई की जनता ने एक बार फिर भरोसा जताया है।


वर्ष 2014-2019 संसदीय काल के दौरान विकास की बड़ी लकीर खींचने वाले चिराग पासवान के कार्यशैली से जमुई की रंगत में काफी निखार आया है। लिहाजा सांसद चिराग जमुई की जनता के प्रिय सांसदों में से एक कि गिनती में आने लगे हैं। स्थानीय जनता ने भी स्वीकारा की सांसद चिराग के अथक प्रयास से ही विकास के मामले में 'जमुई' लोकसभा क्षेत्र ने खूब सुर्खियां बटोरी।


अपने पंचवर्षीय संसद काल के दौरान चिराग ने  केन्द्रीय विद्यालय, पासपोर्ट ऑफिस, कृषि विज्ञान 
केन्द्र, एफसीआई ऑफिस जैसे कई महत्वपूर्ण व आवश्यक प्रतिष्ठानों को जमुई की झोली में डाल दिया।

■ वीडियो देखने के लिए यहां क्लिक करें

 इस दौरान उन्होंने कई योजनाओं के शिलान्यास भी किये जिसे 2019-2024 संसदीय काल तक मे धरातल पर उतारा जाएगा। इनमें बरनार जलाशय योजना, मेडिकल कॉलेज भी शामिल हैं।


[मेडिकल कॉलेज होगा सर्वसुविधायुक्त]

जमुई के लिए सर्वसुविधायुक्त अस्पताल के साथ मेडिकल कॉलेज की भी स्वीकृति मिली है। परिणामतः जमुई के लोग स्वास्थ्य लाभ के साथ साथ उच्च शिक्षा भी ग्रहण कर सकेंगे। सांसद चिराग के अथक प्रयास से मेडिकल कॉलेज के लिए जमीन हस्तांतरण की प्रक्रिया भी पूरी कर ली गयी है। सांसद का कहना है कि इस पांच वर्ष में मेडिकल कॉलेज को सर्वसुविधायुक्त बनाना उनकी पहली प्राथमिकता होगी।


[पूर्ण होगी बरनार जलाशय योजना] :-

जमुई जिले में  सिंचाई की बड़ी परियोजना में से एक बरनार जलाशय योजना भी है।  पिछले 4 दशकों से अपने जिर्णोद्धार की बाट जोहता यह जलाशय इस संसदीय वर्ष में ही पूरा होगा। निकटतम भविष्य में जमुई के किसानों के लिए यह जलाशय योजना मिल का पत्थर सिद्ध होगा।


[केन्द्रीय विद्यालय के भी भाग्य चमेगे]

लोस चुनाव 2019 में ऐतिहासिक जीत हासिल करने वाले चिराग पासवान केन्द्रीय विद्यालय को लेकर शुरुआती समय से प्रयासरत थे। भारत सरकार द्वारा तकरीबन ₹ 19.75 करोड़ राशि के स्वीकृतोप्रांत सांसद चिराग केन्द्रीय विद्यालय के लिए नया भवन बनवाने का लक्ष्य भी इसी संसदीय काल मे पूरा करेंगे।


[युवाओं को मिलेगा रोजगार, जमुई में होगी इंडस्ट्री की स्थापना]

लोस चुनाव 2019 की जीत में सांसद चिराग ने  युवा मतदाताओं को भी श्रेय दिया है। इन युवाओं के रोजगार और जमुई को आर्थिक रूप से सशक्त बनाने को लेकर जमुई में इंडस्ट्री की स्थापना की बात को भी सांसद चिराग ने गंभीरता से लिया है। इन्डस्ट्री स्थापना से बेरोजगारी की मार झेल रहे युवा रोजगार की ओर उन्मुख हो सकेंगे और इससे जमुई की तस्वीर में आर्थिक बदलाव देखने को मिलेगी।


[महिला कॉलेज के लिए भी प्रयासरत हैं सांसद]

जमुई जिलेभर में महिलाओं को आत्मनिर्भरता का पाठ पढ़कर उन्हें सशक्त बनाने के लिए सांसद चिराग ने महिला कॉलेज को भी अस्तित्व लाने की बात कही है। संसदीय क्षेत्र की जनता को उम्मीद है कि छात्राओं के समुचित शिक्षा के लिए सांसद चिराग महिला कॉलेज पर भी अपनी नजरें इनायत करेंगे।


[झाझा-चकाई-गिरिडीह रेल परियोजना पर भी चलेगा काम]

क्षेत्र के तकरीबन 8 लाख जनता की समस्याओं पर मंथन करने के बाद सांसद चिराग  2800 करोड़ के इस रेल परियोजना को धरातल पर उतारने के लिए प्रयासरत रहेंगे। हालांकि इस परियोजना का शिलान्यास अचार संहिता लागू होने के पूर्व  सोनो में रेल मंत्री पीयूष गोयल की उपस्थिति में कर दी गयी। यहां गौरतलब यह है कि रेल मार्ग से जुड़ने वाला बटिया देश का पहला आदर्श ग्राम बनने जा रहा है।



[जमुई के लिए ऐतिहासिक होगा यह संसदीय काल]

विदित हो, बिहार में एनडीए गठबंधन की सरकार बनने के बाद 2014 से 2019 तक जमुई संसदीय क्षेत्र विकास के पायदान पर तेजी से नई ऊंचाइयों को छुआ है। ऐसे में इस सांसदीय काल मे सांसद चिराग का लक्ष्य इस विकास को और गति प्रदान करना है। आगामी 2024 तक किये जाने वाले सभी कार्यों की ब्लूप्रिंट संसद ने तैयार कर ली है, जिससे जनता को इस बात की उम्मीद है कि आगामी पांच वर्ष सांसदीय क्षेत्र के लिए ऐतिहासिक होगी।