Breaking News

गिद्धौर PHC परिसर बना पार्किंग स्थल, प्रबन्धन बेसुध

【 Gidhaur (न्यूज़ डेस्क) | अभिषेक कुमार झा】 :- 

प्रखंड के सबसे बड़े अस्पताल का पर्याय बना दिग्विजय सिंह सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र इन दिनों कर्मियों के मनमाने रवैये के शिकार हो रहा है। मनमानी का आलम यह है कि परिसर के अंदर जहां मरीजों का आवागमन होता है वहां अब कर्मियों के वाहन पार्क किये जाने लगे हैं। 
यूं तो अस्पताल के बाहर प्रबन्धन द्वारा वाहन पार्किंग की समुचित व्यवस्था की गई है पर कुछ चिन्हित कर्मियों के मनमाफिक कार्यशैली का आलम यह है कि वे अपने वाहन को अस्पताल के बाहर पार्किंग स्टैंड में पार्क करने के बजाय अस्पताल के अंदर पार्क करते हैं। इन कर्मियों के तेवर इतने तल्ख हैं कि कोई आम आदमी इन्हें वाहन हटाने तक कि बात नहीं कह सकता।बता दें, बीते वर्ष 2020 की दिसम्बर मध्य में ही वाहन पार्किंग को लेकर कर्मी व मरीजों में बकझक हुई थी।वहीं, अस्पताल से जुड़े सूत्र भी इस वाक्या की पुष्टि करते हुए बताते हैं कि , अस्पतालकर्मी फर्राटे से अपनी बाइक को चलाकर गैलरी में होते हुए अंदर पहुंच जाते हैं और अपने वाहनों को डयूटी स्थल के आस-पास ही खड़ा कर देते हैं। अस्पताल के अंदर बाइक पहुंचने के साथ गंदगी भी पहुंच जाती है जिससे संक्रमण फैलने का भी पूरा खतरा बरकरार रहता है।
सनद हो, अस्पताल के आलाधिकारियों को भी इसकी भनक है, फ़िर भी इस दिशा में किसी प्रकार की ठोस कार्रवाई अब तक सामने नहीं आ सकी है।
वहीं, इस संदर्भ में जब gidhaur.com के सर्किल रिपोर्र्टर धनञ्जय कुमार 'आमोद' ने प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉ. अज़ीमा निशात से बात की तो उन्होंने बताया कि निर्धारित पार्किंग स्थल पर ही वाहन पार्क करने की अनुमति है। परिसर में पार्क करना पूर्णतः गलत है। उन्होंने बताया कि उनके कार्यकाल में ऐसा नहीं होता, फ़िर भी ऐसी बात है तो किनकी बाइक है उसे चिन्हित कर कार्रवाई की जायेगीं ।

#Gidhaur, #Health, #GidhaurDotCom