बाढ़ और कोरोना के बीच बिहार में चुनाव हो या नहीं, रायशुमारी कर रही हिंदू समाज पार्टी - gidhaur.com : Gidhaur - गिद्धौर - Gidhaur News - Bihar - Jamui - जमुई - Jamui Samachar - जमुई समाचार

Breaking

A venture of Aryavarta Media

Post Top Ad

Post Top Ad

Friday, 31 July 2020

बाढ़ और कोरोना के बीच बिहार में चुनाव हो या नहीं, रायशुमारी कर रही हिंदू समाज पार्टी





पटना | अनूप नारायण : हिंदू समाज पार्टी द्वारा बिहार में कोरोना व बाढ़ के प्रकोप के बीच चुनाव कराने को लेकर आम जनता की रायशुमारी की जा रही है। इसके लिए पार्टी की तरफ से 38 जिले में बुथवार समितियों के माध्यम से लोगों का ऑनलाइन-ऑफलाइन दोनों तरीके से राय लिया जा रहा है कि संकट की इस घड़ी में कितने लोग चाहते हैं कि विधानसभा का चुनाव हो। पार्टी के बिहार प्रदेश प्रभारी बाल्मीकि कुमार ने बताया कि जनता के रायशुमारी के बाद पुख्ता सबूत के साथ पार्टी चुनाव आयोग को ज्ञापन सौंपागी।

उन्होंने बताया कि बिहार के 38 जिला मुख्यालयों से लेकर प्रखंड मुख्यालय अनुमंडल मुख्यालय पंचायत स्तर और बूथ स्तर तक पार्टी की कमेटियां गठित है। पार्टी के स्वयंसेवक सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए एक-एक वोटर से इस मुद्दे पर राय ले रहे हैं कि संकट की इस घड़ी में चुनाव होना चाहिए या नहीं होना चाहिए। पार्टी की डिजिटल टीम के द्वारा ऑनलाइन विभिन्न माध्यमों से बिहार के लोगों का राय लिया जा रहा है। बाल्मीकि कुमार ने बताया कि जनतंत्र में जनता ही मालिक है तो इस संकट की घड़ी में जनता ही यह निर्णय ले कि चुनाव ज्यादा जरूरी है या प्राकृतिक और मानवीय आपदाओं से आम आदमी की रक्षा। उन्होंने कहा कि बिहार की जनता संक्रमण काल से गुजर रही है यहा आपातकालीन स्थिति है प्रदेश की 70 फीसदी मध्यम वर्ग के पास अभी तक कोई सरकारी सहायता नहीं पहुंची है। निजी क्षेत्र में काम करने वाले लाखों कामगार बेकार हो गए हैं बाढ़ के कारण राज्य की कृषि व्यवस्था पूरी तरह चौपट हो गई है।

उन्होंने कहा कि राज्य की स्वास्थ्य व्यवस्था पूरी तरह चौपट है। राज्य सरकार खुद कोमा में चली गई है। बिहार के मुख्यमंत्री चैन की नींद में सोए हुए हैं। विपक्ष आरोप लगाने के सिवाय कुछ भी कर नहीं पा रही है। बिहार के लोग केंद्र व राज्य सरकार से ढेर सारी आशाएं लगाए हुए हैं। उनका खेवनहार कोई नहीं है कोरोना व बाढ़ से लोग मर रहे हैं।

Post Top Ad