बड़ी खबरें

जहरीले कीटनाशक नहीं, जैविक उर्वरकों का करें इस्तेमाल, साइकिल यात्रियों ने किया जागरूक

जमुई [सुशान्त साईं सुन्दरम] :
आज के दौर में जैविक कीटनाशक और जैविक उर्वरकों को अपनाने की सख्त जरूरत है। इससे जहां पैदावार पर बेहतर प्रभाव पड़ता है, वहीं धरती को अच्छी पैदावार के लिए हमेशा तैयार किया जा सकता है। साथ ही हमें इन कीटनाशकों और उर्वरकों से पैदा होने वाले खाद्य पदार्थों के सेवन से कई रोगों से छुटकारा भी मिलता है। समय के साथ हमें इसे अपनाने की जरूरत है। उक्त बातें साइकिल यात्रा एक विचार के सदस्यों ने कही।
मौका था साइकिल यात्रियों के रविवासरीय यात्रा का। सामजिक जागरूकता को लेकर चलाये जा रहे मुहिम के 203वें यात्रा के क्रम में साईकिल यात्रियों की 9 सदस्यों की टीम तरी दाबिल गांव पहुंची। सदस्यों द्वारा विद्यालय परिसर में विभिन्न योजनाओं के तहत लगाए गए पौधों की सुरक्षा के साथ 30 पौधरोपण भी किया गया। 

इस दौरान वहां उपस्थित ग्रमीणों और बच्चों को जागरूक करते हुए साइकिल यात्रा एक विचार मंच के सदस्य आकाश कुमार ठाकुर ने बताया की बढ़ते प्रदूषण से हमारे खाद्य पदार्थ भी प्रभावित हुए हैं। जहरीला कीटनाशक युक्त खाद्य पदार्थ खाने से हमारे जीवन काल लगातार कम होते जा रहे हैं। इसके बचाव के लिए हमें जैविक पद्धति को अपनाने की जरूरत है।
सदस्य रंधीर कुमार द्वारा बताया गया कि प्रदूषित पर्यावरण को बेहतर बनाने के लिए एक मात्र उपाय है पौधा रोपण करना और उसकी सुरक्षा के लिए आवश्यक कार्य करना। आज के दौर में पौधा रोपण करना समय की जरूरत है।

आज के कार्यक्रम में साइकिल यात्रा एक विचार के सदस्य  संदीप कुमार रंजन, विवेक कुमार, सचिराज पद्माकर, शेषनाथ राय, विनय कुमार तांती, शेखर कुमार, आकाश कुमार, रंधीर कुमार तथा संतोष सुमन उपस्थित रहे। साथ ही स्थानीय ग्रामीण राजेन्द्र राम, विजय कुमार, सिकंदर कुमार, सतेन्द्र कुमार, गुड्डु कुमार, पूजा कुमारी, राजीव कुमार, राजेश कुमार, राहुल कुमार, रूपेश कुमार, सुकेश कुमार सहित कई ग्रामीण लोग मौजूद रहे।