बड़ी खबरें

बज गया बिगुल! तो क्या अब बिहार पर होगा सन्यासी का राज?

[पटना | अनूप नारायण] :

"कर मे सुदंड नव जटा जूट का ताज, जगत देखने को आएगा सन्यासी का राज."

अगर आप बिहार में व्यवस्था परिवर्तन का सपना देख रहे हैं, राजनीति में भ्रष्टाचार भाई-भतीजावाद-जातिवाद के जहर से व्यथित हैं, बिहार में युवाओं छात्रों तथा सामाजिक लड़ाई लड़ने वाले लोगों को राजनीति में आगे बढ़ते देखना चाहते हैं, तो अब आपका यह सपना पूरा होगा। गंगा पुत्र विकास चंद्र गुड्डू बाबा ने बिहार में एक नई राजनीतिक पार्टी का गठन किया है। जिसमें स्वच्छ छवि के लोकप्रिय लोगों को राजनीति में आगे बढ़ाया जाएगा। इसमें छात्रों, नौजवानों तथा सामाजिक लड़ाई लड़ने वाले सामाजिक योद्धाओ को बिहार के सभी सीटों पर चुनाव लड़ने के लिए उतारा जाएगा।

बिहार के 38 जिलों में समाजिक योद्धा सम्मान के माध्यम से गुड्डू बाबा ने ऐसे सामाजिक योद्धाओ को तलाशा है जो नि:स्वार्थ भावना से लोगों की समस्याओं को लेकर सामाजिक स्तर पर लड़ाई लड़ते हैं। विश्व पर्यावरण दिवस व संपूर्ण क्रांति दिवस के अवसर पर 5 जून  को राजधानी पटना में इस नई पार्टी की घोषणा उन्होंने की है।

विकास चंद्र गुड्डू बाबा बिहार के चर्चित सोशल एक्टिविस्ट हैं जिन्होंने गंगा मुक्ति आंदोलन के साथ ही साथ पटना को अतिक्रमण मुक्त कराने, गौशाला की जमीन की लड़ाई लड़ने, बिहार के सभी सरकारी अस्पतालों को माफियाओं से मुक्त कराने की लड़ाई लड़ी है। इस नई पार्टी में सरहदों पर लड़ने वाले जवान व खेतों में लड़ने वाले किसान पर विशेष जोर दिया गया है। युवा वर्ग, छात्र वर्ग और मजदूर वर्ग भी प्रमुखता से इस दल में नजर आने वाले हैं। प्रवासी मजदूर, शहीदों की विधवाओं, सामाजिक आंदोलनों में शहीद हुए लोगों के परिजन भी दल से इस बार चुनाव में उतारे जाएंगे।

No comments