Merit Go

Breaking News

चार साल से बिना रुके जारी है साईकिल यात्रा, सम्मानित किए गए पर्यावरण के रक्षक


जमुई | सुशान्त साईं सुन्दरम :
पर्यावरण सरंक्षण के उद्देश्य से जमुई के युवाओं द्वारा चलाई गई मुहिम 'साईकिल यात्रा एक विचार मंच' का चौथा वर्षगांठ जमुई स्थित रिचलूक प्ले स्कूल में 'सफलता के चार साल'  कार्यक्रम आयोजित कर मनाया गया। कार्यक्रम की शुरुआत वरिष्ठ शिक्षिका व सामाजिक कार्यकर्ता आर्या सिंह, चिन्ता देवी, डॉ. सुर्यनदंन सिंह, भावानंद सिंह, मनोज कुमार सिंह एवं आशीष कुमार सहित मंच के सदस्यों द्वारा संयुक्त रूप से दीप प्रज्ज्वलित कर की गई। अतिथियों ने पर्यावरण संरक्षण के लिए साइकिल यात्रा एक विचार मंच द्वारा किये गए प्रयासों की सराहना की गई। सबों ने कहा कि यदि युवा जागरूक हो जाए, तो बड़े से बड़ा और मुश्किल काम भी छोटा दिखने लगता है। विगत चार वर्षों से अनवरत जारी इस सफर में जमुई में ना केवल पर्यावरण सरंक्षण का प्रयास सफल हुआ है, बल्कि इस मंच ने अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भी जमुई का नाम रौशन किया है।

मंच द्वारा लगातार प्रत्येक रविवार की साईकिल यात्रा सह पर्यावरण जागरूकता अभियान के तहत लगाये गये पौधों को संरक्षित करने वाले सबसे बेहतर 20 व्याक्तियों को पर्यावरण मित्र एवं मंच को सकरात्मक रूप सहयोग करने वाले एवं मंच में निःस्वार्थ भाव से प्रत्येक गतिविधियों में भाग लेने सदस्यों को मोमेंटो देकर सम्मानित किया गया।

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए समाजसेवी भावानंद ने कहा कि युवाओं द्वारा किए गए मजबूत निर्णय से प्रयास सार्थक दिख रहा है। इस मुहिम सहित कई कार्यों को आगे बढ़ाने एवं लोगों को पर्यावरण के प्रति जागरूक करने के लिए हम सभी को मिलकर काम करना होगा।

चिकित्सक डॉ. सूर्यनन्दन सिंह ने कहा कि जिस देश में, समाज में पेड़-पौधों को पूजने की प्रथा रही है, अब उसी देश में, उसी समाज में पेड़ कम हो रहे हैं। बदलते दौर के साथ लोगों का प्रकृति से रिश्ता टूटने लगा है। बढ़ती आबादी की ज़रूरतों को पूरा करने के लिए वृक्षों को बेतहाशा काटा जा रहा है।

साइकिल यात्रा के चार वर्षों के सफर पर चर्चा करते हुए सुमित कुमार सिंह ने बताया कि मंच द्वारा 10 जनवरी 2016 को पर्यावरण सरंक्षण हेतु एक मुहिम की शुरूआत की गई थी, जो अब तक लगातार 209 रविवासरीय यात्रा पूर्ण कर चुका है। इस क्रम में साइकिल यात्रियों द्वारा 500 गाँवों की यात्रा की गई है, 7000 पौधे लगाये गये हैं। कई गांवों में लोगों द्वारा किए गए प्रयासों से बगीचा भी बनाया गया है। इनमें नीम नवादा, बालाडीह, अमारी आदि प्रमुख गांव हैं। साइकिल यात्रा एक विचार मंच को अब तक 16 राष्ट्रीय-अन्तराष्ट्रीय आवार्ड सहित कई सेमिनारों में आंमात्रित किया गया है। मंच का सबसे बडी बात यह है कि यह मुहिम युवाओं द्वारा सामुहिक प्रयास से चलाया जा रहा है। अपने चार साल के सफर में कहीं से भी इस कार्यक्रम हेतु अर्थिक मदद अथवा एनजीओ या सरकारी योजनाओं का लाभ नही लिया गया है।

अगहरा से संजय कुमार सिंह, नीमनवादा से जयनंदन कुमार, बालाडीह से मदन कुमार, सिरचंद नवादा से गौरशंकर विश्विकर्मा, सिरचंद नवादा से हरिनंदन कुमार, कटौना से महेश कुमार दांगी, कटौना से चंदन कुमार, सिरचंद नवादा से उपेन्द्र तिवारी, सिरचंद नवादा से मोहन पाल, अम्बा से रीना देवी, अम्बा से सुनील महतो, कुशल युवा कार्यक्रम प्रखंड परिसर जमुई से दरक्षा कौशर, कुशल युवा कार्यक्रम प्रखंड परिसर, जमुई से कमल नयन कुमार, हॉसडीह से प्रमोद मंडल, महिसौड़ी से अजीत कुमार, लछुआड़ से सुमन सौरभ, मोहगाय से सौरभ कुमार, कहरडीह से अमरजीत सिंह सहित कई पर्यावरण प्रेमियों को सम्मानित किया गया।

इस अवसर पर संदीप कुमार रंजन, विवेक कुमार, सचिराज पद्माकर, रंधीर कुमार, विनय कुमार तांती, आकाश कुमार, शेखर कुमार, शैलेश भारद्वाज, विपिन कुमार, मंटू कुमार, सुमित सिंह, लड्डू मिश्रा, ठाकुर डुगडुग सिंह, विकास कुमार, सचिन कुमार, बाल्मीकि कुमार सहित साइकिल यात्री एवं बड़ी संख्या में पर्यावरण प्रेमी व गणमान्य लोग उपस्थित रहे।