Breaking News

जमुई रेल थानाध्यक्ष द्वारा अमानवीय व्यवहार के विरोध में प्रदर्शन, बर्खास्त करने की हुई मांग

झाझा/जमुई [सुशान्त साईं सुन्दरम] :
अमानवीयता की एक वीडियो बीते दिनों सोशल मीडिया पर वायरल हुई। इस वीडियो में एक बेहोश पड़े व्यक्ति को एक अन्य व्यक्ति लात मार रहा है और अपने चप्पल सूंघा रहा है। वीडियो में नजर आ रहे ऐसे अमानवीय व्यवहार करने वाला शख्स कोई और नहीं बल्कि जमुई रेल थानाध्यक्ष श्रीकांत रजक हैं। बता दें कि मंगलवार को रेलवे स्टेशन पर एक बेहोश व्यक्ति को पहले तो जमुई रेल थानाध्यक्ष श्रीकांत रजक ने लात मारकर उठाने का प्रयास किया। लेकिन जब बेहोश व्यक्ति नहीं उठा तो उन्होंने अपने चप्पल भी सूंघा दिए।

यह वीडियो वायरल होते ही जमुई रेल थानाध्यक्ष श्रीकांत रजक के खिलाफ विरोध प्रदर्शन शुरू हो गया है। बुधवार को गांधीवादी विचारधारा के सामाजिक कार्यकर्ता सूर्या वत्स ने झाझा में जमुई जीआरपी थानाध्यक्ष के द्वारा अमानवीय कृत्य करने पर विरोध प्रदर्शन किया। इस दौरान सूर्या वत्स ने कहा कि पैर से मारकर बेहोश पड़े यात्री को उठाने का प्रयास करना फिर एक बार पुलिस का बर्बर चेहरा लोगों के सामने पेश कर दिया है। इंसानियत के नाते भी गिरे लोगों की मदद कर उठा देना चाहिए लेकिन शायद ऐसा करने पर पुलिस का रौब कम हो जाएगा जो आज की पुलिस को मंजूर नहीं है।

देश के आजाद हुए 73 वर्ष हो गये हैं लेकिन पुलिस अपनी छवी आज तक नहीं सुधार पाई है। सूर्यावत्स ने ऐसे थानाध्यक्ष को तुरंत बर्खास्त करने की मांग की।
इस दौरान थानाध्यक्ष को फौरन बर्खास्त करो, पुलिसया जुल्म बंद करो, इंसानियत को जिंदा रखना होगा जैसे आक्रोशपूर्ण नारे लगाकर आक्रोश जताया गया। इसमें निर्मल यादव, देवदास, शिव शंकर यादव, फिटर यादव, सरजू प्रसाद यादव, काजू, जीतू, सियाराम सहित दर्जनों लोग शामिल हुए।