Merit Go

Breaking News

छठ महापर्व : नागी-नकटी-उलाई नदी के संगम तट पर गिद्धौरवासियों ने डूबते सूर्य को दिया अर्घ्य


गिद्धौर [सुशांत साईं सुन्दरम] :
महादेवा राज के नाम से विख्यात चंदेल राज रियासत की धरती गिद्धौर में भगवान सूर्य की आराधना का महापर्व छठ के तीसरे दिन कार्तिक मास के शुक्लपक्ष षष्टी को अस्ताचलगामी सूर्य को अर्घ्य दिया गया.

देखें विडियो >>


गिद्धौर के अतिप्राचीन राजमहल के पीछे बहने वाली नागी-नकटी एवं उलाई नदी के संगम तट पर दुर्गा मंदिर घाट, रानी बगीचा घाट, कलाली रोड घाट, राजमहल घाट सहित विभिन्न छठ घाटों पर छठ मैया की पूजा-आराधना की गई.

आम से लेकर ख़ास लोग सर पर सूप-दउरा लिए छठ घाट तक पहुंचे. वहीं मन्नत अनुसार कई छठ व्रती अपने-अपने घरों से छठ घाट तक दंडवत देते हुए पहुंचे.

छठ व्रतियों को छठ घाट तक पहुँचने में असुविधा न हो इसका विशेष ध्यान रखते हुए लोगों ने आपसे सहयोग से रास्ते की साफ़-सफाई की.

उलाई नदी में घाटों का चौड़ीकरण एवं घाट किनारे लाइटिंग की व्यवस्था शारदीय दुर्गा पूजा सह लक्ष्मी पूजा समिति के सौजन्य से की गई है.

नदी किनारे पहुँचे लोगों ने भगवान सूर्य के अस्ताचल होते ही लोगों ने अर्घ्य देकर लोक कल्याण की कामना की.

अब रविवार की सुबह उगते सूर्य को अर्घ्य के साथ यह महापर्व संपन्न हो जायेगा.