Merit Go

Breaking News

गिद्धौर : दुकानदार से लेवी मांगने वाला 2 अभियुक्त गिरफ़्तार, मोबाइल व लैपटॉप जब्त


न्यूज़ डेस्क | अभिषेक कुमार झा】 :-

भाकपा माओवादी पूर्वी बिहार उत्तरी झारखण्ड के बैनर तले गिद्धौर के एक दुकानदार  से 5 लाख 80 हजार रुपये की लेवी मांगने का मामला संज्ञान में आया है।


जानकारी अनुसार, गिद्धौर  बाजार स्थित सिटी मेडिकल्स के प्रो. लखन रविदास को 19 अक्टूबर 2019 की संध्या उक्त संगठन  के पेपर पर कम्प्यूटरकृत अक्षर में 5,80,000 (पांच लाख अस्सी हजार रुपये) मंगोबन्दर के आगे चांदनी मैदान के बाउंड्री के ऊपर रखने की बात कही गयी थी। यहां तक जान से मारने की धमकी तक पत्र में अंकित कर दिया गया था। अगले दिन 20 अक्टूबर को लखन रविदास ने उक्त घटनाक्रम की जानकारी देते हुए गिद्धौर थानाध्यक्ष के नाम आवेदन प्रेषित करते हुए दोषियों के विरुद्ध उचित कानूनी कार्रवाई की मांग पर एफआईआर दर्ज करवाई। प्राथमिकी दर्ज करने की प्रक्रिया को पूरी करने के बाद केस का इंवेस्टिंग ऑफिसर एस.आई. मशीचरण कुजूर को बनाया गया।

- गिद्धौर पुलिस को मिली कामयाबी -

अक्टूबर माह से ही जारी तकरीबन एक महीने के बाद बीते रात गिद्धौर पुलिस को  इस केस में सफलता हाथ लग गयी। इस मामले में शामिल आनन्दी रविदास के पुत्र दिलीप रविदास (गोविन्दपुर) एवं दिवाकर रविदास (चौकीटांड) को गिद्धौर पुलिस द्वारा गिरफ्तार किया गया।

 - राजनीतिक संरक्षणों की हो रही है नुमाइश -

विश्वसनीय सूत्रों की यदि मानें तो इस घटना के कुख्यात अभियुक्त को राजनीतिक संरक्षण भी प्राप्त है। इनके गिरफ्तारी से राजनीतिक रसूखदार अपने विक्टो पावर की नुमाईश करने तक उतर गए है। हालांकि प्रशासनिक अमले के लोग शुरुआत से ही इस मामले पर अपनी पैनी नजर बनाये हुए थे। पर राजनीति दाव पेंच में भी अभियुक्त को सलाखों के पीछे भेजकर गिद्धौर पुलिस ने एक नाजिर पेश की है। खबर लिखे जाने तक इन अभियुक्त के लिए राजनीतिक संरक्षण की नुमाईश जारी थी।

कहते हैं गिद्धौर थाना अध्यक्ष-

इस संदर्भ में जानकारी देते हुए गिद्धौर थानाध्यक्ष आशीष कुमार ने बताया कि उक्त दो अभियुक्तों के पास से एक लैपटॉप व दो सैमसंग फोन बरामद किया गया है। बरामद लैपटॉप से मिले साक्ष्य के आधार पर प्रमाणित किया किया इस संगठन के नाम से चिट्ठी जारी कर इस तरह के लेवी की मांग की गई है। अनुसंधान के दौरान प्राप्त हुए इन साक्ष्यों के आधार पर उक्त दोनों अभियुक्तों को न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है।