Breaking News

चकाई : 10 दिनों के भीतर समस्याओं का समाधान नहीं हुआ तो चरणबद्ध आंदोलन करेंगे शिक्षक

चकाई : स्थानीय एस के +2 उच्च विद्यालय में आज बुधवार को बिहार पंचायत नगर प्रारंभिक शिक्षक संघ की एक बैठक संघ के जिला महासचिव सह प्रखंड अध्यक्ष जय प्रकाश पासवान की अध्यक्षता में आयोजित की गई। बैठक में शिक्षकों की विभिन्न समस्याओं पर व्यापक चर्चा की गई। उपस्थित शिक्षकों को संबोधित करते हुए श्री पासवान ने कहा कि शिक्षा विभाग के गैर जिम्मेदाराना रवैये के कारण चकाई के सैकड़ों शिक्षको को आज भी सातवें वेतमान के तहत वेतन नसीब नही हो पाया है। सातवें वेतन का अन्तरवेतन तो अब यहाँ के शिक्षकों को सपने जैसा लगने लगा है। भुखमरी के कगार पर खड़े शिक्षकों को तीन माह से वेतन नसीब नहीं हो पाना काफी दुर्भाग्यपूर्ण  है। जिला में आबंटन होने के बाबजूद भी वेतन में विलंब होना शिक्षा विभाग के उदासीन रवैये को दर्शाता है। श्री पासवान नें जिलाधिकारी महोदय से अपील करते हुए जल्द से जल्द अन्तरवेतन की राशि के साथ-साथ बकाया वेतन भुगतान कराने की मांग की है ताकि शिक्षकों का शोषण बन्द हो सके। वहीं बैठक को संबोधित करते हुए उप सचिव सूरेश चंद्र यादव  ने कहा कि बिहार के लगभग सभी जिलों में नव प्रशिक्षित शिक्षकों का वेतन निर्धारण कर भुगतान की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है लेकिन जमुई जिले में वह भी नहीं हो पाया है। उन्होंने कहा कि अगर दस दिनों के अंदर शिक्षकों की समस्याओं का समाधान नहीं किया गया तो चरणबद्ध आंदोलन किया जाएगा। 
इस मौके पर शिक्षक संघर्ष समन्वय समिति के बैनर तले पटना में 18 जुलाई को आयोजित राज्यव्यापी धरना प्रदर्शन की सफलता को लेकर जमुई में 13 जुलाई को आयोजित कार्यक्रम में भी चकाई से अधिक से अधिक शिक्षकों के शामिल होने की अपील की गई।  बैठक में उपाध्यक्ष प्रमोद कुमार, सुरेश साव, उपसचिव उमेश दास, कोषाध्यक्ष इम्तियाज आलम, तरुण मिश्रा, नकुल पासवान, रंजीत आज़ाद, दयानंद चौधरी, संदीप राणा, मुन्नी कुमारी, हरि यादव, ब्रह्मदेव यादव, मो० हातिम, धनेश्वर वर्मा, नवीन कुमार, भरत दास, यशवंत कुमार सहित दर्जनों की संख्या में शिक्षक-शिक्षिकाएं उपस्थित थे।