Breaking News

जमुई के इस लाल ने किया जिले का नाम रौशन


(शुभम मिश्र, मांगोबंदर) :
बिहार का जमुई जिला प्रकृति की गोद में बसा एक छोटा जिला है। जमुई ! का नाम सुनते ही लोगों के जेहन में नक्सलवाद का नाम दौड़ता है।नक्सल प्रभावित जिला होने के बावजूद भी यहां प्रतिभावान लोगों की कमी नहीं है।जिसका जीता-जागता उदाहरण जिले के खैरा प्रखंडान्तर्गत मांगोबंदर गांव के उदय कुमार मोदी का चयन दिल्ली की एक जानीं-मानी संस्था " समन्वय एक उत्साह "जो दिव्यांग कलाकारों को अपनी कला प्रदर्शन करने में सहायता प्रदान करती है एवं प्रोत्साहित करती है ; के मुख्य अतिथि के तौर पर हुआ।
जिसका आयोजन रविवार को गांधी आर्ट गैलरी सुल्तानपुर नईदिल्ली में हुआ।

 उन्होंने अपने भाषण के दरम्यान कलाकारों को प्रोत्साहित करते हुए कहा कि " कला एक ऐसा विषय है,जिसमें विभिन्न क्रियाओं व गतिविधियों के माध्यम से लोगों के सर्वांगीण विकास में सहायता मिलती है "।मुख्य अतिथि के तौर पर सुप्रीम कोर्ट के वरीय वक़ील नवीन कुमार जग्गी,इमिनेन्ट कलाकार लक्ष्मण कुमार,गांधी आर्ट गैलरी के फाउंडर विनोद जैन,मिस यूनिवर्स रश्मि सचदेवा,शिव आर्ट गैलरी के फाउंडर सौनक जोशी के साथ-साथ उदय कुमार मोदी भी शामिल थे।

उक्त आयोजन को आयोजित करने वालों में शहमीर खान,कलाकार सुभाष गुप्ता,दिलीप कुमार यादवेन्दू आदि शामिल थे।बतातें चलें कि एक साधारण परिवार में जन्में प्रतिभा के धनी उदय कुमार मोदी का चयन 2010 में केन्द्रीय रिजर्व पुलिस बल में हुआ था।वर्तमान में वह श्रीनगर में पदस्थापित हैं।जब भी वो छुट्टी में घर आते हैं तो गांव के युवक उनसे भेंट करने को लेकर उत्सुक रहते हैं।

वो ग्रामीण युवाओं को सेना में जाकर देश सेवा करने को लेकर हमेशा प्रोत्साहित करते रहते हैं।उन्हें शारीरिक व्यायाम के साथ-साथ दौड़,ऊंची व लंबी कूद आदि करने के तरीके बताते रहते हैं।वर्तमान में गांव की ऐसी स्थिति है कि जिस बच्चे से भी आप पूछेंगे तो वो सेना में भर्ती होने की इच्छा प्रकट करेगा। 
मुख्य अतिथि के तौर पर उदय कुमार मोदी का चयन को लेकर ग्रामीणों में काफ़ी खुशी देखी गयी।