Breaking News

सिमुलतला के गोदैया गांव में रास्ता विवाद सुलझाने में प्रशाशन नाकाम


सिमुलतला (गणेश कुमार सिंह) :-.
सिमुलतला थानान्तर्गत खुरंडा पंचायत के गोदैया गांव में रास्ता विवाद का मामला एक बार पुनः सुलगने लगा है।  ग्रामीण अरुण पांडेय एवं अन्य ग्रामीणों के बीच उक्त विवाद को लेकर काफी कहा सुनी हुई फिर मामला सिमुलतला थाना पहुंचा, जहां थानाध्यक्ष ने समझाबुझा कर दोनों पक्षों को वापस भेज दिया।


                                              विदित हो की पिछले वर्ष तुलसी पुजा एवं मुहर्रम त्यौहार के दौरान इस रास्ता विवाद ने एक खूनी संघर्ष का रूप ले लिया था।यदि प्रशासन यहां पर थोड़ी सी भी चूक करती तो किसी बड़ी घटना से इनकार नही किया जा सकता था।पूरा गांव एक सप्ताह तक पुलिस छावनी में तब्दील रही थी। घटना में कई लोगों पर प्राथमिकी भी दर्ज की गई थी। पत्रकारों से बातचीत में वहां के ग्रामीणों ने बताया कि गांव वालों के रास्ते को दूसरा पक्ष जबरन पूर्व से ही छावनी छप्पर कर रह रहा है, अब वहां पर दीवार देकर रास्ता अवरुद्ध करना चाह रहा है। कोई भी ग्रामीण यदि उसे समझाने की कोशिश करता है तो वह मारपीट एवं लड़ाई झगड़ा पर उतारू हो जाता है। पिछले वर्ष  भी इसी व्यक्ति के कारण पूरा गांव उलझ गया था। पुनः यहां पर झगड़े को बढ़ाने की कोशिश की जा रही है। जबकि यह रास्ता सैकड़ो वर्षो का है। इस रास्ते को स्वर्गीय कार्तिक सिंह गाँव के मुख्य सड़क से अपने घर तक ले गया था, जो लगभग 300 मीटर तक पूरी खुद की जमीन पर केवल बिच में लगभग 20 मीटर की जमीन दूसरे पक्ष निरत पाण्डेय की थी, उससे भी रास्ते को लेकर समझौता था। किंतु  अब उसका पौत्र रास्ते पर दीवाल देकर लगभग 50 घर के लोगों का रास्ता बंद कर दिया है। मुहर्रम त्यौहार के समय झाझा अंचलाधिकारी ने इस रास्ते को लेकर पहल किया था किंतु समय बीतते ही मामले को ठंडे बस्ते में डाल दिया।  मामला पुनः सुलगता दिख रहा है। गांव के सरदार जमशेद मियां वार्ड सचिव आजाद अंसारी,वार्ड सदस्य अब्बास मियां,तैयूब मियां,आयुपफ़ मिया,रास्ते रोकने को लेकर अरुण पाण्डेय समेत कुछ लोंगों पर मुकदमा भी किया है।
कहते है एसपी
इस संदर्भ में जमुई पुलिस अधीक्षक डा इनामुल हक मेंगनु ने बताया कि मैं इस मामले पर अविलंब जांच कर कार्रवाई करूंगा। उन्होंने तत्परता दिखाते हुए दोनों पक्ष के लोगों को गुरुवार को जमुई बुलाया है।