Breaking News

चकाई : गमों का त्योहार मुहर्रम सौहार्दपूर्वक मना, निकाला गया ताजिया जुलूस

चकाई | श्याम सिंह तोमर】 :-

मुसलमान समुदाय का गमों त्यौहार मुहर्रम मंगलवार को प्रखंड में पूरे प्रेमपूर्वक सौहाद्र वातावरण में मनाया गया। 


इस मौके पर कई दिनों तक चलने वाला यह त्योहार मंगलवार को प्रखंड के हेठ चकाई, नगड़ी, मिरबीघा, दुलमपुर, सरौन, दुवारिया टील्हा , रामचंद्रडीह, बालगोजी आदि दर्जनों अखाड़ो से पूरे उत्साह के साथ शाम चार बजे के करीब ताजिया जुलुस निकाला गया। जिसमें बच्चे , बूढ़े, जवान तथा महिलाओं ने बढ़ चढ़कर भाग लिया। 

वहीं शाम को सभी ताजिया जुलुस चकाई बाजार, चकाई मोड़ , चकाई चौक , चकाई प्राइवेट बसस्टैंड , सरकारी बस स्टैंड आदि स्थानों पर जुलुस में शामिल मुस्लिम युवाओं द्वारा भाला , तलवार, लाठी , नेजा, बाणा आदि के हैरतअंगेज करतब दिखाकर खूब तालियां बटोरी। इसके  बाद सभी ताजिया जुलुस जामा मस्जिद चकाई के प्रांगण में जमा हुए तथा वहाँ से ताजिया के पहलाम हेतु अपने अपने कर्बला की और हाय हुसैन का नारा लगाते हुए पहलाम के लिये चले गए।


वहीं इस मौके पर जुलुस के साथ तथा चकाई बाजार सहित अन्य संवेदनशील स्थानों पर मुहर्रम को शांतिपूर्वक सम्पन्न कराने हेतु पुलिस की भारी व्यवस्था देखी गयी। वहीं उल्लेखनीय बात ये है कि ताजिया जुलुस के दौरान हिन्दू समुदाय के लोगों ने भी सौहार्द एवं भाई चारा का मिसाल पेश करते हुये ताजिया जुलुस में भाग लेकर सिफड़ नचाया तथा लाठी तलवार भांजा।
समाचार प्रेषण तक कही से भी किसी अप्रिय घटना का समाचार नही मिला है। वहीं मिरबीघा जुलूस के दौरान मिरबीघा नवयुवक कमिटी के मो. अफजल उर्फ टीपू खां, मो. इस्लाम, मो. राशिद खां, मो. असलम, मो. मुख्तार, मो. जहांगीर, मो. मुस्तफा खां, मो. अरशद खां, मो. फिरोज खान, मो. पप्पू खलीफा, मो
ज्यामुल खां इत्यादि लोग शामिल थे।