Breaking News

सिमुलतला : अकीदत के साथ मना कुर्बानी का पर्व बकरीद, एक दूसरे को दी पर्व की बधाई

सिमुलतला (गणेश कुमार सिंह) :-
कुर्बानी का प्रतीक ईदुल अजहा का पर्व सोमवार को पूरी अकीदत के साथ मनाया गया। क्षेत्र के ग्रामीण क्षेत्रों में लोगों ने इबादतगाहों में नमाज पढ़ी।
इसके बाद घर पहुंच कर कुर्बानी दी। ईदगाह में सुबह 8:30 बजे बकरीद की नमाज मौलाना की सरपरस्ती में  इमाम मौलना  ने पढ़ाई। सुबह से ही नमाजी ईदगाह की ओर आते दिखाई देने लगे। नमाज से थोड़ा पहले तक ईदगाह का अंदरूनी हिस्सा भर चुका था। मौलाना ने नमाज के बाद मुल्क की खुशहाली और तरक्की के लिए दुआ कराई। सुन्नते रसूल पर चलने की हिदायत दी। इसके बाद मौलाना ने खुत्बा पढ़ा।

खुत्बा खत्म होने के बाद लोग कुर्बानी देने के लिए घर की ओर चले गए। नमाज के पहले उलेमाओं ने तकरीर में रसूल अल्लाह सल्ललाहु अलैहे वसल्लम के बारे में बताया। लोगों को उनकी सुन्नतों पर अमल करने की ताकीद की। कुर्बानी के पर्व बकरीद की फजीलत के बारे में विस्तार से बताया। वहीं शाही ईदगाह के बाहर लोगों ने एक दूसरे को गले मिल कर बकरीद की बधाई दी। त्योहार के मद्देनजर सुरक्षा-व्यवस्था के खास इंतजाम थे। झाझा अंचलाधिकारी एवं सिमुलतला पुलिस सुरक्षा को लेकर चुस्त दुरुस्त दिखे। ईदगाह के आसपास  पुलिस के जवान चौकसी बरतते दिखाई दिए।क्षेत्र के टेलवा, कनोदि, पुरनका डीह, बथानाबरन, गोदैया,अशाहना आदि गाँव में भी शांतिपूर्वक ढंग से बकरीद  मनाई गई ।