Breaking News

बड़ी खबर! वाराणसी में दो मौसेरी बहनों ने आपस में रचाई शादी


स्टेट डेस्क | अनूप नारायण :
यूपी के वाराणसी में दो युवतियों ने समलैंगिक विवाह कर लिया। मोहनसराय क्षेत्र के घांगलवीर बाबा मंदिर के पीछे स्थित शिवमंदिर में दोनों ने एक-दूसरे को जयमाल पहनाकर विधिवत शादी रचाई और परिणय सूत्र में बंध गई। दोनों लड़कियां मौसेरी बहन बताई जा रही है। दोनों युवतियां शादी के बाद कानपुर रवाना हो गईं। इनमें से एक लड़की लंका थाना क्षेत्र के सुंदरपुर की और दूसरी कानपुर की बताई जा रही है।

मिली जानकारी के अनुसार एक ऑटो में बैठकर दिन में दो युवतियां आईं। दोनों जींस व टी-शर्ट पहने थीं। वहां आते ही दोनों ने पहले पूजा-अर्चना की। शुरू में युवतियां अन्य श्रद्धालुओं की भांति पूजा-पाठ कर रहीं थीं। लेकिन कुछ ही देर बाद दोनों आपस में शादी की अनुमति मांगने लगीं। यह सुन शिवमंदिर के पुजारी असहज हो गए। लेकिन लड़कियों के अनुनय-विनय को देखते हुए पुजारी ने अनुमति दे दी। इसके बाद दोनों ने एक-दूसरे को जयमाल पहनाया और एक युवती ने दूसरी युवती को मंगलसूत्र पहनाई। जिसके बाद उसने युवती को चुनरी भी ओढ़ा दी। पुजारी का कहना है कि इस मंदिर में शादी कराई जाती है और बाकायदा शुल्क लेकर पंजीकरण भी किया जाता है। लिखापढ़ी के दौरान वर व कन्या पक्ष का बाकायदा उल्लेख भी होता है। फिलहाल इन दोनों युवतियों की शादी को पंजीकृत नहीं किया गया है। दोनों युवतियां जिस ऑटो से आईं थी उस ऑटो चालक ने बताया कि एक युवती कानपुर और दूसरी बनारस की रहने वाली है और दोनों युवतियां कानपुर रवाना हो गई हैं।

मौसी के यहां पढ़ने आई थी लड़की
मंदिर में शादी के दौरान पता चला कि कानपुर की लड़की सुंदरपुर में रहने वाली अपनी मौसी के यहां रहकर पढ़ाई करती थी। इसी दौरान मौसेरी बहनों में प्रेम हो गया। दोनों का प्रेम ऐसा परवान चढ़ा कि दोनों ने शादी करने का फैसला कर लिया और शिव मंदिर में जाकर शादी रचा ली। दोनों के सम्बंधों की जानकारी परिवारवालों को हुई तो उन लोगों ने इसका विरोध किया।