Breaking News

मांगोबन्दर पैक्स के वर्तमान अध्यक्ष द्वारा धान खरीद में घोटाला, उच्च स्तरीय जांच की मांग


खैरा (नीरज कुमार) :-
खैरा प्रखंड अंतर्गत माँगोबन्दर पैक्स अध्यक्ष कमलेश कुमार सिंह द्वारा वित्त वर्ष 2018-19 में धान खरीदारी में जिन किसानों का नाम सूची में अंकित किया है वे किसान पैक्स में धान नही बेचा। भाकपा माले के छात्र संगठन आइसा के प्रदेश उपाध्यक्ष बाबु साहब ने किसानों से मिलकर पूछ-ताछ किया। इस दौरान किसानों ने बताया कि हम लोग वित वर्ष 2018- 19 के सुखाड़ प्रभावित धान योजना का लाभ लिए है लेकिन पैक्स में इस वर्ष धान नही दिए है पैक्स अध्यक्ष व्यपारियों से धान लेकर पैक्स में जमा किया।  


किसानों के जानकारी दिए बिना उनका रजिस्ट्रेशन नंबर सहित किसानों का नाम पर जमा कर दिया।
किसानों के नाम इस प्रकार है -
1. चंद्र शेखर सिंह - 53 क्विन्टल
2. मुरी प्रसाद चौरसिया - 50 क्विन्टल
3. सिकंदर ठाकुर - 50 क्विन्टल
4). मनोहर सिंह - 75 क्विन्टल
5). त्रिपुरारी  सिंह - 95 क्विन्टल
6). ओंकार शरण सिंह 96 क्विन्टल
7). बलराम दुबे - 50 क्विन्टल
8). शक्ति भूषण सिंह -  60 क्विन्टल
9). प्रबोध सिंह - 125 क्विन्टल
10). प्रदीप सिंह - 55 क्विन्टल
11). राजन सिंह - 70 क्विन्टल
12). परमा सिंह - 120 क्विन्टल
उक्त किसानों के अलावे दर्जनों किसानों के नामपर धान खरीद का हेरा फेरी किया गया।
बताया जाता है कि पैक्स अध्यक्ष और सहकारिता बैंक के मिली भगत से फर्जी खाता के तहत लेंन देंन किया गया,  जबकि वित्त वर्ष 2018-19 में जमुई जिला के खैरा प्रखंड सुखाड़ घोषित किया गया।  किसानों ने सुखाड़ (इनपुट) प्रभावित योजना धान का राशि लिया। जिसमें चंद्र शेखर सिंह 24583 रुपया , मुरारी प्रसाद चोरसिया 17973 रुपए, सिकंदर ठाकुर,1000 रुपये,मनोहर सिंह 21852 रुपये,
त्रिपुरारी सिंह16,389 रुपये, शक्ति भूषण सिंह 24,583 रुपये, आदि किसानों ने लाभ लिया।
इसको लेकर कामरेड बाबू साहब ने मांग किया कि मांगोबन्दर  अध्यक्ष कमलेश सिंह द्वारा  धान खरीदी की उच्च स्तरीय जांच के साथ-साथ जिले के सभी पैक्स में धान खरीद की जांच कराई जाय।