Breaking News

चकाई : उड़ीसा में सड़क दुर्घटना में ट्रक ड्राइवर सुरेश उपाध्याय की मौत के बाद परिजनों पर टूटा दुःखों का पहाड़

परिवार जनों को ढांढस देने मृतक के घर पहुँचे चकाई के पूर्व विधायक...
चकाई/जमुई : चकाई प्रखंड अंतर्गत लीलुडीह गांव निवासी ट्रक ड्राइवर सुरेश उपाध्याय का बीते 29 जुलाई की रात कटक में सड़क दुर्घटना में मौत हो था.मौत की खबर सुनकर परिवार जनों में कोहराम मच गया.परिवार जनो द्वारा मृतक शुरेश उपाध्याय की बॉडी को कटक में ही दाह संस्कार कर दिया गया था.बेहद दर्दनाक हादसा में सुरेश उपाध्याय की हुई मौत ने बच्चों के सर से पिता का साया छीन लिया.मृतक सुरेश उपाध्याय के बड़े भाई नरेश उपाध्याय ने बताया की मेरे छोटे भाई का दो लड़का है.जबकि उनकी पत्नी की मौत कई वर्षों पूर्व बीमारी से हो गयी थी.मां की मौत के बाद दोनों बच्चों का भरण पोषण मेरा भाई उडीसा में ट्रक चलाकर करता था.बड़ा लड़का चिंटू पटना में बीए की पढ़ाई करता था.जबकि छोटा रिंटू घर मे ही रहकर पढ़ाई कर रहा था.अचानक आये मौत ने मेरे परिवार का सदस्य एवं बच्चो के सर से माता- पिता का साया छीन लिया.बतादे की मृतक पांच भाई थे.जिसमे बड़ा नरेश उपाध्याय चकाई में ट्रक ड्राइवर है.जबकि दूसरे नम्बर पर मृतक सुरेश उपाध्याय थे.तीसरे नंबर पर शैलेस उपाध्याय थे जो तीन वर्ष पूर्व भी वो सड़क दुर्घटना में काल के गाल में समा गए.वो भी ट्रक चला कर अपने परिवार का भरण पोषण करते थे.वही चौथे भाई हरेश उपाध्याय अपने गांव लीलुडीह में छोटा सा राशन दुकान चला कर अपने और परिवार का भरण पोषण कर रहे है.वही सबसे छोटा भाई मुकेश उपाध्याय भी चकाई में भाड़े का स्कार्पियो चला कर अपना भरण पोषण कर रहा है.वही मौत के बाद दोनों बच्चो का रो-रो कर बुरा हाल है.छोटा लड़का रिंटू को तो अपनी माँ का प्यार भी थी से नही नसीब हो पाया था.अब पिता की मौत ने बच्चे को सदमे में डाल दिया है.खाना-पीना बंद कर दिया है.माँ-बाप का प्यार बच्चो के लिए क्या होता है वो बच्चे ही जानते है.मगर इस घटना ने ईश्वर की लीला पर भी प्रश्न चिन्ह लगा दिया है.
दो भाइयों की मौत के बाद सदमे में है परिवार
बीते 29 जुलाई को कटक-भुनेश्वर मुख्य मार्ग पर हुए दर्दनाक हादसे में चकाई थाना अंतर्गत लीलुडीह गांव निवासी ट्रक ड्राइवर सुरेश उपाध्याय की मौत हो गयी थी.कटक पुलिस ने परिवार जनों को बताया की मृतक सुरेस उपाध्याय ट्रक में समान लोड कर उडीसा जा रहे थे.इसी बीच आधी रात को ट्रक खराब हो गया था.इसी बीच पीछे से तेज रफ्तार में आ रही ट्रक ने टक्कर मार दिया जिससे की सुरेश उपाध्याय को पूरी तरह कुचल दिया.वही स्थानीय पुलिस ने शव को थाना लाकर पोस्टमार्टम में भेज दिया.मौत की घटना की खबर जैसे ही परिवार जनों को मिला वैसे ही कोहराम मच गया.बूढ़े-बच्चे दहाड़ मारकर रोने लगे.एक भाई शैलेश उपाध्याय तीन वर्ष पूर्व इसी तरह सड़क दुर्घटना का शिकार हो गया था.उनके भी दो छोटे-छोटे बच्चे थे.मृतक का बड़ा भाई नरेश उपाध्याय आँखों मे आँसू लिए रुहासे गले से कहा की ईश्वर ने हमारे परिवार पर यह कैसा संकट ला दिया की छोटे भाई की मौत का जख्म भरा भी नही था की मंझले भाई को भी अपने पास बुला लिया.दोनों भाइयों के बच्चे के सर से पिता का साया छीन लिया.वही परिवार जनों पर आई आफत की खबर पाकर पूरे लीलुडीह गांव वासी सहित अन्य लोग परिवार एवं बच्चो को ढांढस बंधा रहे है.
मौत की खबर पाकर मृतक के घर पहुँचे पूर्व विधायक
चकाई प्रखंड अंतर्गत लीलूडीह ग्राम निवासी श्री नरेश उपाध्याय जी के छोटे भाई सुरेश उपाध्याय जी का कटक में सड़क दुर्घटना में हुई मौत की सूचना के बाद चकाई के पूर्व विधायक सुमित कुमार सिंह उनके घर लीलुडीह जाकर परिजनों से मिले.साथ ही उन्होंने कहा कि संबंधित कागजात जमा कराने के बाद उनके परिजनों को प्रवासी सहायता की राशि दिलाई जाएगी.मौके पर ग्रामीण मंटु उपाध्याय,निरंजन उपाध्याय,अरविंद उपाध्याय,अमित तिवारी,गुडन उपाध्याय,प्रताप उपाध्याय,डॉ शुकदेव दुबे,ललन उपाध्याय,रजनी उपाध्याय,मुकेश उपाध्याय,विजय उपाध्याय,राजीव उपाध्याय,बिधुरंजन उपाध्याय,मिंटू उपाध्याय सहित अन्य ग्रामीण सहित परिवार जन मौजूद थे.