Breaking News

अलीगंज : वीर कुंवर सिंह की मनाई गई जयंती, जीवनी पर डाला प्रकाश

[अलीगंज | चन्द्रशेखर सिंह] :
प्रखंड के अलीगंज बाजार में मंगलवार को देश को अंग्रेजो से आजाद कराने की जंग में अहम भूमिका निभाने वाले महान योद्धा बाबू वीर कुंवर सिंह की जयंती समारोह समाजसेवी चंद्रशेखर आजाद की अध्यक्षता में मनाई। सर्वप्रथम लोगों ने तैलीय चित्र पर पुष्पांजलि अर्पित कर उनके बताये रास्ते पर चलने का संकल्प लिया।
इस अवसर पर सभा को संबोधित करते हुए समाजसेवी सह युवा शक्ति के प्रांतीय नेता शशिशेखर सिंह, मुन्ना ने कहा कि बाबू कुंवर सिंह एक जमींदार परिवार से ताल्लुक रखते हुए भी ब्रिटिश शासन के खिलाफ आवाज उठाकर लंबी लड़ाई छेड़कर अंग्रेजी हुकूमत के मनोबल को तोड़ने का काम किये। सन् 1857 जब देश में प्रथम स्वतंत्रता संग्राम की शुरूआत हुई थी तो उस समय बाबू वीर कुंवर सिंह की उम्र 80 वर्ष थी फिर भी उनमें अपूर्व साहस, बल और पराक्रम था। उन्होंने देश को पराधीनता से मुक्त कराने के लिए दृढ़ संकल्प के साथ संघर्ष किया। सुरेन्द्र प्रसाद सिंह ने कहा कि बाबू कुंवर सिंह ने अंग्रेजी सरकार को दांत खट्टे कर दिये थे। 
बताते चलें कि बाबू वीर कुंवर सिंह का जन्म बिहार राज्य के भोजपुर जिले के जगदीशपुर गांव में वर्ष 1777 ई में एक जमींदार परिवार में हुआ था। वे सदैव अंग्रेजी नीतियों व सिद्धांतों के खिलाफ थे। वे 1857 ई में अंग्रेजी हुकूमत के जमकर विरोध कर लंबी लड़ाई लड़े। इस जयंती समारोह में कई वक्ताओं ने बाबू वीर कुंवर सिंह द्वारा किये कार्यों का बखान किया। मौके पर पूर्व मुखिया दशरथ मेहता, धर्मेन्द्र कुशवाहा, महेंद्र यादव,रविशंकर सिंह, प्रो आनंद लाल पाठक, सरयुग दास,प्रभु दयाल सिंह, मधुकर सिंह, विकास कुमार, हीरा महतो सहित दर्जनों गणमान्य लोग मौजूद थे।