Breaking News

लोकसभा चुनाव : आरा लोकसभा क्षेत्र भाजपा और माले में सीधा मुकाबला

पटना/स्टेट डेस्क [अनूप नारायण] :

आरा लोकसभा क्षेत्र से भाजपा ने अपने निवर्तमान सांसद भाजपा के राजकुमार सिंह को पुनः उम्मीदवार बनाया है जबकि महागठबंधन ने यह सीट माले को दे दिया है. माले ने यहां से राजू यादव को अपना उम्मीदवार बनाया है पिछले लोकसभा चुनाव में राजू यादव माले के उम्मीदवार के तौर पर आरा से चुनावी समर में थे और उन्हें लगभग एक लाख से ज्यादा वोट भी मिला था.आरा लोकसभा क्षेत्र भोजपुर जिले में आता है. भोजपुर जिला बिहार के 38 जिलों में एक है जिसका हेडक्वार्टर आरा में पड़ता है.

चुनाव आयोग के 2009 के आंकड़ों के मुताबिक आरा संसदीय क्षेत्र में 1,555,122 वोटर हैं जिनमें 855,070 पुरुष और 700,052 महिला मतदाता हैं. पूरे भोजपुर जिले की आबादी 2,720,155 है. यह 2011 की जनगणना के आंकड़े हैं. आरा से राजकुमार सिंह सांसद हैं जो बीजेपी से आते हैं. 2014 के चुनाव में उन्होंने आरजेडी के प्रत्याशी श्रीभगवान सिंह कुशवाहा को हराया था.
इस सीट का ऐतिहासिक, सांस्कृतिक और राजनीतिक महत्व काफी है. आरा क्षेत्र के लोग उपप्रधानमंत्री, लोकसभा अध्यक्ष से लेकर कई बार केंद्रीय मंत्री रह चुके हैं. समता आंदोलन के नेता बाबू जगजीवन राम उपप्रधानमंत्री से लेकर कई बार केंद्रीय मंत्री रहे. वे इसी क्षेत्र का प्रतिनिधित्व करते थे.

आरा संसदीय/विधानसभा क्षेत्र का ब्योरा
इस संसदीय क्षेत्र में 7 विधानसभा क्षेत्र आते हैं. इनके नाम हैं-अगियांव, संदेश, शाहपुर, बड़हरा, तरारी, आरा और जगदीशपुर. इसमें अगियांव विधानसभा क्षेत्र एससी के लिए रिजर्व है. आरा 1972 तक सासाराम में हुआ करता था. बाद में बक्सर में मिला दिया गया. 1991 से पहले आरा में बक्सर और आरा संसदीय क्षेत्र आते थे. आरा से अलग होने वाले रोहताश में सासाराम और बिक्रमगंज संसदीय क्षेत्र (परिसीमन के बाद काराकाट) आ गए.

1971 में पांचवीं लोकसभा का चुनाव हुआ. उस वक्त आरा को शाहाबाद संसदीय क्षेत्र के नाम से जाना जाता था. 71 के चुनाव में बलिराम भगत शाहाबाद से सांसद चुने गए जो 15 मार्च 1971 से 18 जनवरी 1977 तक सांसद रहे. 1977 में भगत चुनाव हार गए और जनता पार्टी के चंद्रदेव प्रसाद वर्मा पहली बार बने आरा संसदीय क्षेत्र से चुने गए.

2014 का लोकसभा चुनाव
इस चुनाव में बीजेपी के राजकुमार सिंह उर्फ आरके सिंह ने जीत दर्ज की. उन्होंने आरजेडी के श्रीभगवान सिंह कुशवाहा को हराया. आरके सिंह को 3,91074 वोट मिले जबकि कुशवाहा को 2,55,204 वोट. वोट प्रतिशत देखें तो आरके सिंह को कुल 43.78 प्रतिशत वोट मिले थे जबकि कुशवाहा को 28.57 प्रतिशत. तीसरे स्थान पर सीपीआईएमएल के राजू यादव रहे जिन्हें 98,805 (11.06 प्रतिशत) वोट मिले.

चौथे स्थान पर जेडीयू की मीना सिंह और पांचवें पर एबीजेएस के भारत भूषण पांडेय रहे. मीना सिंह को जहां 75,962 वोट मिले, वहीं भारत भूषण को मात्र 10,950 वोट. इस सीट पर नोटा के तहत 14,703 वोट दर्ज हुए. कुल वोटों का यह 1.65 प्रतिशत था. इस चुनाव में जेडीयू के वोट कटे और बीजेपी को मिले, लिहाजा आरके सिंह ने अच्छी-खासी जीत दर्ज की.