Breaking News

पटना में बोले PM मोदी, अब भारत अपने वीर जवानों के बलिदान पर चुप नहीं रहता

पटना (अनूप नारायण) :
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को पटना में एनडीए की रैली को संबोधित किया. करीब दस साल बाद पीएम नरेंद्र मोदी और बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार एनडीए के मंच पर साथ नजर आए. पिछली बार 2009 के लोकसभा चुनाव में लुधियाना में दोनों नेता एक साथ मंच पर थे. आपको बता दें कि पीएम की इस रैली को लेकर बिहार में राजग के तीनों घटक दल जद (यू), भाजपा और लोजपा ने इस रैली को लेकर खासा तैयारी की थी.. पीएम ने कहा कि विपक्षी दलों के नेता हमारे जवानों के पराक्रम पर संदेह कर रहे हैं. जैसे इन लोगों ने सर्जिकल स्ट्राइक पर सवाल उठाये थे, वैसे ही वे अब आतंकी ठिकानों पर हुए हवाई हमलों का सबूत मांगने लगे हैं. वे अपनी राजनीति करते रहें, मोदी सबके लिए विकास के काम करता रहेगा. पीएम ने कहा कि जब आतंक की फैक्ट्री चलाने वालों के खिलाफ एक सुर से बात करने की ज़रूरत थी, तब दिल्ली में 21 पार्टियां मिलकर मोदी के खिलाफ, केंद्र की NDA सरकार के खिलाफ निंदा प्रस्ताव पारित करने के लिए इकट्ठी हुईं थी. अब नया हिंदुस्तान नई रीति और नई नीति के साथ आगे बढ़ रहा है. अब भारत अपने वीर जवानो के बलिदान पर चुप नहीं बैठता, चुन-चुन कर हिसाब लेता है.

पीएम ने कहा कि आप सभी साक्षी हैं, हमारे देश की सक्षम सेना आतंक को कुचलने में जुटी है. चाहे वो सीमा के भीतर हो या बाहर, ऐसे समय में देश के भीतर ही कुछ लोग क्या क्या कर रहे हैं? देश की सेना का मनोबल बढ़ने की बजाय वो ऐसे काम कर रहें हैं, जिससे दुश्मन के चेहरे खिल रहे हैं.
पीएम मोदी ने कहा कि अब भारत अपने वीर जवानों के बलिदान पर चुप नही रहता, चुन चुन कर बदला लेता है. देश में अगर 'महा मिलावट' वाली सरकार होती तो न फैसले होते और न ही गरीबो का कल्याण होता. इन लोगों की प्रवृत्ति अपना विकास करने की है, देश का विकास करने की नहीं.
2014 से लेकर अब तक का समय देश की बुनियादी सुविधाओं को पूरा करने का था और अब 2019 से आगे का समय, देश को 21वीं सदी में नयी ऊंचाई पर पहुंचने का है.
सुरक्षा चाहे गरीब की हो या देश की, देश पर बुरी नजर रखने वालों के सामने आपका ये चौकीदार और हमारा NDA गठबंधन दीवार बनकर खड़ा है.
ये जो लूट-खसूट, चोरी-चकारी, बेनामी प्रॉपर्टी और बिचौलियों की संस्कृति बिहार और देश की राजनीति में दशकों से सामान्य हो चुकी थी, उसको बंद करने की हिम्मत हमने दिखाई है.
हमारी सरकार ये सुनिश्चित करने में जुटी है कि बिहार में विकास की पंचधारा यानि - बच्चों को पढ़ाई, युवा को कमाई, बुजुर्गों को दवाई, किसान को सिंचाई और जन-जन की सुनवाई सुनिश्चित हो . प्रधानमंत्री ने कहा कि जो गरीबों का छीन कर अपनी दुकान चला रहे थे, वे चौकीदार से परेशान हैं. इसीलिए चौकीदार को गाली देने की साजिश चल रही है. आप यकीन रखिए, आपका चौकीदार हर तरीके से चौकन्ना है.
पीएम मोदी ने कहा, चारे के नाम पर क्या-क्या हुआ है, ये बिहार के लोग बहुत बेहतर तरीके से जानते हैं.उद्योगों के साथ-साथ हमारे अन्नदाताओं के लिए भी देश के इतिहास की सबसे बड़ी योजना पीएम किसान सम्मान निधि आज ज़मीन पर उतर गई है. इस योजना के तहत बिहार के डेढ़ करोड़ से अधिक छोटे किसानों समेत देश के लगभग 12 करोड़ किसानों को लाभ होगा.
पीएम मोदी ने कहा कि यहां गांव और शहरों की सड़कों को, यहां के नेशनल हाईवे का चौड़ीकरण हुआ है. जो पुराने पुल हैं उनको सुधारा जा रहा है, नए फ्लाइओवर्स का निर्माण किया जा रहा है. ये जो लूट-खसोट थी, वो बंद करने की हिम्मत दिखाई है.एनडीए की सरकार ये सुनिश्चित करने में जुटी है कि बिहार में विकास की पंचधारा यानि बच्चों को पढ़ाई, युवा को कमाई, बुजुर्गों को दवाई, किसान को सिंचाई और जन-जन की सुनवाई, ये सुनिश्चित हो. बिहार ने विकास की जिस रफ्तार को पकड़ा है, वो और गति पकड़े इसके लिए केंद्र की NDA सरकार ने निरंतर प्रयास किया है. कुछ दिन पहले ही बरौनी में 30 हज़ार करोड़ से अधिक की परियोजनाओं की सौगात बिहार को दी गई थी. ये बिहार के विकास के लिए किए जा रहे निरंतर प्रयासों की एक झलक भर थी. एनडीए की रैली में पीएम मोदी ने कहा कि मैं शहीदों को नमन करता हूं. शहीदों के परिवारों के साथ पूरा देश कंधे से कंधा मिलाकर खड़ा हुआ है.