Breaking News

पटना : सिन्हा इलेक्ट्रो होम्यो अनुसंधान केंद्र को अधिकार पत्र मिलना गर्व की बात : डाॅ. केपी सिन्हा


पटना (अनूप नारायण) :
इलेक्ट्रो होम्यो पैथी के विकास एवम शोध कार्य में सम्पूर्ण भारत के सभी संस्थानों, चिकित्सकों एवम परामर्शदाताओं के संरक्षक के रूप में प्रतिनिधित्व कर योगदान देने के लिए सिन्हा इलेक्ट्रो होम्यो अनुसंधान केंद्र, पटना को अधिकार पत्र मिलने से संस्थान गौरवान्वित हुआ है। उक्त बातें अनुसंधान केंद्र के प्रवक्ता डाॅ. प्रभात कुमार श्रीवास्तव (सीनियर रिसर्च एडवाइजर व रिसर्च प्रमोटर) एवम् निदेशक शोधकर्ता डाॅ. के. पी. सिन्हा ने मंगलवार को विश्व संवाद केंद्र में आयोजित प्रेस वार्ता को सम्बोधित करते हुए कही। 

उन्होंने कहा की भारत सरकार द्वारा इलेक्ट्रो होम्यो पैथी की मान्यता सम्बन्धी समस्त प्रक्रिया में विलंब होने की वजह से इस चिकित्सा क्षेत्र में बाधित हो रहे विकास एवं शोध कार्यों को यथार्थ रूप में सुचारू करवाकर जनहित में इस चिकित्सा विज्ञान की और अधिक भागीदारी सुनिश्चित करने के उद्देश्य से सिन्हा इलेक्ट्रो होम्यो अनुसंधान केंद्र, पटना द्वारा स्वास्थ्य मंत्रालय को प्रेषित निवेदन पत्र में, इलेक्ट्रो होम्यो पैथी की मान्यता सम्बंधी प्रक्रिया पूर्ण नहीं हो जाने तक, पटना स्थित केंद्र को इस पद्धति के प्रतिनिधि रूप में सम्पूर्ण भारत में इलेक्ट्रो होम्यो पैथी के क्षेत्र में स्तरीय शिक्षण व्यवस्था, शोधकार्य एवम् विकास हेतु अधिकृत करने का अनुरोध किया गया था।
जिसके बाद स्वास्थ्य मंत्रालय ने सिन्हा इलेक्ट्रो होम्यो अनुसंधान केंद्र, पटना की टीम द्वारा आविष्कृत गैंग्रीनाॅल फोर्ट के पूर्व में अनेकों कैंसर मरीजों पर पाये गए चमत्कारिक परिणामों एवं इस अद्भुत दवा पर ब्क्त्प् (लखनऊ), दिल्ली स्टेट कैंसर इंस्टीट्यूट (दिलशाद गार्डन) जैसे भारत सरकार के कई प्रतिष्ठित शोध संस्थानों में अमेरिका के डाॅ. सेन पाठक (रिसर्च प्रोफेसर, एम.डी. एंडरसन कैंसर सेंटर, हाॅस्टन, टेक्सास), डाॅ. आर. के. ग्रोवर (डायरेक्टर, क्ैब्प्), डाॅ. आंनद कुलकर्णी (सीनियर साइंटिस्ट, ब्क्त्प्) एवं उनकी टीम सरीखे देष-विदेष के प्रख्यात चिकित्सा विशेषज्ञ व वैज्ञानिकों से हुई अनेक उच्चस्तरीय बैठकों में इसकी गुणकारिता के सम्बंध में निकले सकारात्मक नतीजों के मद्देनजर इस दवा का चिकित्सा जगत में व्यापक प्रभाव देखते हुए स्वास्थ्य एवं
परिवार कल्याण मंत्रालय, भारत सरकार ने 13 फरवरी 2019 को अन्य विधाओं के साथ इलेक्ट्रो होम्यो पैथी को मान्यता प्राप्ति की प्रक्रिया में अपनी वैज्ञानिकता एवम् प्रमाणिकता साबित करने के लिए मंत्रालय के परिसर में विस्तृत चर्चा के लिए आयोजित बैठक में आमंत्रित किया।
इसी उच्चस्तरीय बैठक में सिन्हा इलेक्ट्रो होम्यो अनुसंधान केंद्र, पटना के डाॅ. प्रभात कुमार श्रीवास्तव (सीनियर रिसर्च एडवाइजर, रिसर्च प्रमोटर व प्रवक्ता) द्वारा इलेक्ट्रो होम्यो पैथी की गुणकारिता के पक्ष में दी गई विस्तृत प्रस्तुति एवं “गैंग्रीनाॅल फोर्ट“ दवा के कैंसर रोग में चंद मिनटों में ही मिलने वाले चमत्कारिक परिणामों के साथ-साथ उसी बैठक में केंद्रीय आयुष मंत्री माननीय श्रीपद नायक जी पर स्ट्रेंथ टेस्ट के लाइव डेमो के हतप्रभ करने वाले चमत्कारिक नतीजे से प्रभावित होकर स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा दिनांक.13/2/2019 को पत्रांक संख्या - एफटीएस 248/च्ै/2019 से जारी किये गए अधिकार पत्र के जरिये सिन्हा इलेक्ट्रो होम्यो अनुसंधान केंद्र, पटना को इलेक्ट्रो होम्यो पैथी के क्षेत्र में विकास एवं शोध कार्य में लगे सभी संस्थानों, चिकित्सकों एवं परामर्शदाताओं के संरक्षक के रूप में प्रतिनिधित्व करने के लिए अधिकृत किया गया है।
प्रेस वार्ता को डाॅ. के. पी. सिन्हा (निदेशक), डाॅ. प्रभात कुमार श्रीवास्तव (सीनियर रिसर्च एडवाइजर एवं प्रवक्ता) एवं डाॅ. अभिषेक कुमार (रिसर्च एडवाइजर) ने सम्बोधित किया।