Breaking News

गिद्धौर : पुलवामा के शहीदों के सम्मान में निकला कैंडल मार्च, लगे अमर रहे के नारे

रास्ते में मिलने वाले लोग मार्च में शामिल होते गए और जुलूस की लम्बाई चार किलोमीटर तक जा पहुंची...

गिद्धौर/जमुई (सुशांत सिन्हा) :

आँखों में खौलता खून और आक्रोशित होता एक-एक रोम. जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में सीआरपीएफ के जवानों पर हुए आतंकी हमले में वीरगति को प्राप्त हुए जवानों को श्रद्धांजलि देने समूचा गिद्धौर सड़क पर उतर पड़ा. सार्वजनिक पुस्तकालय परिवार द्वारा आहूत कैंडल मार्च की शुरुआत पुस्तकालय परिसर से हुई. जहाँ तकरीबन पांच सौ युवा कतारबद्ध हो जुलूस में शामिल हुए.

देखिये विडियो >>

यहाँ से मुख्य सड़क होते हुए यह जुलूस गैस एजेंसी तक गया और फिर वहां से पंचायत भवन होते हुए बन्झुलिया गाँव पहुंचा. इस बीच रास्ते में मिलने वाले लोग भी मार्च में शामिल होते गए और जुलूस की लम्बाई तकरीबन चार किलोमीटर तक जा पहुंची.

गिद्धौर थाना के युवा सिपाही भी इस जुलूस में शामिल हुए. सभी के जबान पर एक ही नारा - पाकिस्तान मुर्दाबाद... सभी की एक ही मांग - भारत सरकार आतंक को पनाह देने वाले पाकिस्तान को वैश्विक मानचित्र से गायब कर दे.

अश्रुपूरित नैन, पाकिस्तान हुकूमत की सरपरस्ती में भारत को नुकसान पहुंचा रहे आतंकवादियों के खिलाफत गुस्सा और वन्दे मातरम के गगनभेदी नारे... कायराना तरीके से वार करने वाले आतंकियों को मुंहतोड़ जवाब देने की मांग के साथ बच्चे, बूढ़े, जवान धधकते लहू के उबाल के साथ सड़कों पर नजर आये. जो अपने घरों में थे वे खिडकियों-घरों की छतों पर से जोरदार नारे लगा रहे थे और ललकार रहे थे हेंकड़ीबाज पाकिस्तान को कि दम है तो सामने से वार कर.

गिद्धौर थाना से वापस लॉर्ड मिंटो टावर चौक पर आकर जुलूस ने सभा का शक्ल ले लिया जहाँ पुलवामा आतंकी हमले में शहीद हुए जवानों को श्रद्धांजलि देते हुए दो मिनट का मौन रखा गया और मोमबत्तियां जलाई गई.