Breaking News

विकास के दावे को मुंह चिढ़ाती दिख रही गिद्धौर मुख्य मार्ग से स्टेशन जाने वाली जर्जर सड़क

गिद्धौर/न्यूज़ डेस्क [शुभम मिश्रा] : बिहार सरकार जहां एक ओर विकास के दावे कर रही है वहीं जमीनी हकीकत कुछ और ही हाले वयां करती है। जी हां ! मैं बात कर रहा हूँ जमुई जिले के गिद्धौर मुख्य मार्ग से स्टेशन जाने वाली लिंक सड़क की जो मुख्य मार्ग से स्टेशन होते हुए सेवा,गोविन्दपुर,धमना सहित दर्जनों गांवों को जोड़ती है।इसे प्रशासनिक उदासीनता कहें या जनप्रतिनिधियों की अनदेखी।ये सड़क आज भी अपने विकास करने वाले की बाट जोह रही है।जबकि गिद्धौर के राजनेताओं द्वारा राष्ट्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर प्रतिनिधित्व किया जा चुका है। 
बतातें चलें कि गिद्धौर का संबंध चंदेल वंशज के घरानों से भी है। जिसका जीता जागता सबूत गिद्धौर महाराजा का किला है। यहां की दुर्गा पूजा विश्व विख्यात है। गिद्धौर को बिहार में बीड़ी उद्योग के नाम से जाना जाता है। पूर्व केंद्रीय मंत्री स्व॰दिग्विजय सिंह, पूर्व सांसद बांका पुतुल सिंह, पूर्व मंत्री बिहार सरकार दामोदर रावत एवं अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर ख्याति प्राप्त निशानेबाज गोल्डन गर्ल श्रेयसी सिंह का निवास स्थान यहीं है। फिर भी आजतक उक्त सड़क की उचित मरम्मती नहीं करबायी गई है,जबकि प्रत्येक दिन हजारों   यात्रियों का इस रास्ते से आवागमन होता है।

प्रत्येक दिन कोई-न-कोई वाहन या यात्री दुर्घटना के शिकार बनते हैं और यात्रियों को परेशानी का सामना करना पड़ता है। बरसात के दिनों में स्थिति और भी बद-से-बदतर हो जाती है अंदाजा लगाना मुश्किल हो जाता है कि सड़क में गड्ढे हैं या  गड्ढे में सड़क है। ये सारी समस्याएं  संबंधित अधिकारियों के साथ-साथ क्षेत्रीय स्तर पर पूर्व व वर्तमान जनप्रतिनिधियों को भी ज्ञात है फिर आज तक कोई ठोस कदम नहीं उठाया गया है।समय रहते उक्त समस्या का समाधान नहीं किया गया तो हादशे होते रहेंगे।