Breaking News

सिमुलतला : आवासीय विद्यालय में विद्यार्थी के पास मिला फोन, पिटाई के बाद बिगड़ी छात्र की तबियत


सिमुलतला (बीरेन्द्र कुमार) :- सिमुलतला आवासीय विद्यालय के विद्यार्थियों के पास से मोबाइल फोन मिलने के कारण उपप्रचार्य के द्वारा विद्यार्थियों की पिटाई से एक  छात्र की तबियत बिगड़ गई, जिसे इलाज के लिए देवघर के एक निजी चिकित्सालय में इलाज करवाया गया, जहां चिकित्सक ने इलाज के बाद स्थिति सामान्य बताया। बुधवार की सुबह छात्र के परिजन मिलने के लिए विद्यालय पहुंचा।

बताते चलें कि सिमुलतला आवासीय विद्यालय प्रशासन के द्वारा छात्रावास के छपेमारी में पिछले कुछ माह से लगातार विद्यार्थियों के पास से लगातार मोबाइल फोन बरामद होते रहा है। यहां बता दें कि विद्यार्थियों को विद्यालय परिसर में मोबाइल फोन रखना बर्जित है। इस सिलसिला में सोमवार को भी विद्यालय प्रशासन की ओर से छापेमारी के दौरान कुल सात एंड्रॉएट मोबाइल मिला। जिस कारण विद्यालय के उपप्रचार्य डॉ सुनील कुमार ने जिस छात्र के पास से मिला मोबाइल उस सभी छात्रों की पिटाई किया गया। लेकिन उसमे ग्यारवीं के छात्र परवेज मुशर्रफ की तबियत काफी बिगड़ गया। जब परवेज ने मंगलवार को दिनभर खाना नही खाया एवं मामला को तूल पकड़ते देखा विद्यालय प्रचार्य डॉ राजीव रंजन के द्वारा इलाज के लिए देवघर के एक निजी चिकित्सालय में भर्ती कराया गया। जहां चिकित्सकों ने इलाज के बाद छात्र की स्थिति को सामान्य बताया।

इस खबर को जब छात्र परवेज के परिजनों ने सुना तो मंगलवार की अहले सुबह समस्तीपुर से मां निखत अहमदी, पिता जमील अख्तर, जीजा अतहर आलम व चचेरा भाई मोहम्द अब्बाससिमुलतला विद्यालय पहुंच गया। जैसे ही परवेज के परिजनों ने देखा तो उसकी मां फूटफूट कर रोने लगी व पिता शिक्षक से कहने लगे की इस तरह से आपलोगो ने क्यो मारा। काफी देर विद्यालय के शिक्षकों एवं परिजनों की बीच बहस चला उसके बाद फहरे धीरे मामला शांत हुआ। 


पत्रकारों से बातचीत में पीड़ित छात्र ने बताया कि विद्यालय में जातीयता के अनुसार मान सम्मान दिया जाता है, मेरे साथ कई छात्रों के पास से मोबाईल बरामद हुई थी लेकिन बेरहमी से मारपीट सिर्फ मेरे ही साथ क्यों किया गया। इस संदर्भ में विद्यालय के उप प्राचार्य एवं प्राचार्य डॉ राजीव रंजन ने बताया कि विद्यालय में छात्रों के पास मोबाईल होना वर्जित है इस परिस्थिति में किसी के पास से यदि मोबाईल बरामद होता है तो विद्यालय अनुशासन की अवहेलना होती है, मोबाईल बरामदगी के बाद सभी छात्रों को डांट फटकार लगाई गई थी। जिस छात्र के पास से मोबाइल मिला है उसी विद्यालय प्रशंसान की और से निर्णय लेकर सस्पेंत किया जाएगा। इस के पूर्व भी बीते दिसम्बर माह में  बारहवीं के एक छात्र एवं ग्यारहवीं के एक छात्रा को विद्यालय से हमेशा के लिए सस्पेंड किया गया है।