Breaking News

लक्ष्मीपुर : अग्निपीड़ितों को MSF ने दी राहत सामग्री, बढ़ाया मदद का हाथ

[न्यूज डेस्क | अभिषेक कुमार झा] :-
एक ओर जिला प्रशासन द्वारा पीड़ित लोगों की मदद को प्रयासरत हैं वहीं दूसरी ओर सामाजिक संस्था भी इन असहायों की सहायता के लिए अपने हाथ आगे बढ़ा रही हैं।
हम बात कर रहे हैं, जमुई जिले के नकसल प्रभावित क्षेत्र लक्ष्मीपुर अन्तर्गत आने वाले मडैया पंचायत की, जहाँ बीते 30 दिसंबर को भीषण आग लगने से कुल 12 घर पूरी तरह राख में परिवर्तित हो गये। इसमें प्रभावित हुए  पांच परिवार के कुल 43 सदस्य बेघर, असहाय हो गये। इन्हें राहत पहुँचाने के उद्देश्यार्थ सोमवार को सामाजिक संस्था मिलेनियम स्टार फाउंडेशन की टीम घटनास्थल पर पहुँचकर पूरे घटनाक्रम की जानकारी ली।
इसके पश्चात फाउंडेशन के सदस्यों द्वारा स्थानीय लोगों के सहयोग से पीड़ित परिवारों के कुल 43 सदस्यों के बीच खाद्य सामग्री, गर्म कपड़े आदि वितरित किए गए।
मौके पर मौजूद संस्था के अध्यक्ष सुशान्त साईं सुन्दरम ने पीड़ित लोगों से मिलकर उनका दर्द बांटते हुए कहा कि विभिन्न माध्यमों से हमें गौरा-मड़ैया में हुए इस अगलगी की भयानक दुर्घटना के बारे में पता चला। मिलेनियम स्टार फाउंडेशन की टीम ने सामूहिक सहयोग द्वारा आवश्यकता के सामान जरूरतमंदों तक पहुँचाने का एक छोटा सा प्रयास किया है। यह दुर्घटना जितनी भीषण है इसकी भरपाई तत्क्षण कर पाना असंभव है। सभी सामर्थ्य लोग एवं संस्थाओं को अपने स्तर से सुविधा मुहैया कराने का प्रयास करना चाहिए।
वहीं अगलगी की दुर्घटना का शिकार हुए लोगों को राहत पहुँचाते हुए मौजूद संस्था के उपाध्यक्ष प्रशांत कुमार ने कहा कि मीडिया में आ रही तस्वीरों को देखकर स्थिति की वीभत्सता का आकलन नहीं किया जा सकता। जमुई जिला भर के युवा साथी थोड़ा-थोड़ा सा सहयोग कर भी पीड़ितों को राहत पहुंचा सकते हैं। 
मौके पर वार्ड संख्या तीन के वार्ड सदस्य प्रतिनिधि ओमप्रकाश सिंह, सुभाष सिंह, प्रदीप सिंह, रामानंद सिंह, शोभा देवी, यमुनानी देवी, श्यामा देवी, सरिता देवी आदि ने संस्था के इस पहल की सराहना की।
वहीं पीड़ितों ने अपना दुखड़ा सुनाते हुए अपने वार्ड में पेयजल हेतु सरकारी चापाकल, इंदिरा आवास सहित अन्य आवश्यक योजनाओं की भी मांग रखी। जिसपर प्रतिक्रिया जाहिर करते हुए फाउंडेशन के अध्यक्ष सुशान्त साईं सुन्दरम् ने पीड़ितों को साकारात्मक आश्वासन दिया।
पीड़ितों कि यदि मानें तो, घटना के बाद समयांतराल पर विभिन्न राजनीतिक दल के नेता अपनी राजनीति चमकाने के लिए आते जरूर हैं सिवाय आश्वासन के इनसे संतुष्टिजनक कुछ भी प्राप्त नहीं हुआ।