Breaking News

...इसलिए जमुई समाहरणालय में 18 को होगा शिक्षकों का आक्रोशपूर्ण प्रदर्शन!


[gidhaur.com | दयानन्द साव] :-

बिहार पंचायत-नगर प्रारंभिक शिक्षक संघ के बैनर तले जिला एवं प्रखंड कमिटी की संयुक्त बैठक जिलाध्यक्ष रवि कुमार यादव की अध्यक्षता में आयोजित की गई। इस बैठक में BPNPSS के प्रदेश अध्यक्ष आनन्द कौशल सिंह ने विशिष्ट अतिथि के रूप में उपस्थित थे।
बुधवार को हुए इस बैठक में सभी संघीय पदाधिकारियों ने एक स्वर में माना कि पदाधिकारियों की लापरवाही के कारण 21 माह से जमुई में सप्तम वेतन का भुगतान एरियर के साथ नहीं मिला है और उर्दू शिक्षकों का एरियर, दो साल पूरा कर चुके टेट पास प्रशिक्षित शिक्षकों को ग्रेड पे , दक्षता पास शिक्षकों का एरियर सहित दर्जन भर मांगो को पूरा नहीं किया गया है जिसके कारण सबों ने आक्रोश पूर्वक आंदोलन करने का सुझाव भी दिया।
तत्पश्चात जिला और प्रखंड इकाई ने सर्वसम्मति से ये निर्णय लिया कि यदि आगामी 17 जनवरी 2019 तक जमुई के सभी प्रखंडों में सेवन्थ पे की दर से एरियर के साथ भुगतान नहीं हुआ और सभी मांगों को पूरा नहीं किया गया तो 18 जनवरी 2019 को जमुई जिले के हजारों शिक्षक विद्यालय से अवकाश लेकर समाहरणालय जमुई में आक्रोशपूर्ण धरना प्रदर्शन करेंगे। BPNPSS के इस बैठक का संचालन महासचिव जयप्रकाश पासवान ने किया।

इस बैठक में जिला वरीय उपाध्यक्ष संजीव कौशिक, जिला उपाध्यक्ष युगल किशोर यादव, मुरारी शर्मा, जिला मीडिया प्रभारी पंकज प्रकाश बच्चन, जिला कोषाध्यक्ष राजीव वर्णवाल, जिला सचिव सप्पन सिंह, संजीत कुमार, जिला प्रतिनिधि रामप्रवेश कुमार,लक्ष्मीपुर प्रखंड अध्यक्ष लक्ष्मी यादव, गिद्धौर प्रखंड अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण यादव, सोनो प्रखंड अध्यक्ष लखन मंडल, खैरा प्रखंड अध्यक्ष भोला कुमार, बरहट प्रखंड महेश शर्मा, झाझा कोषाध्यक्ष मासूम अंसारी, चकाई उपसचिव सुरेश चन्द्र यादव, जमुई प्रखंड उपाध्यक्ष उत्तम सिंह, मीडिया प्रभारी अभय सिन्हा, बबलू दुबे, प्रमोद कुमार, राजीव रंजन, परमानंद यादव, शशिकांत साह, मो. शमीम अख्तर, राजीव शर्मा, कैलाशपति यादव,उमाशंकर प्रसाद, अवधेश पप्पू, दयानंद कुमार, सनोज कुमार, आशीष चौहान, मुकेश मंडल, अबू मनोवर हसन, मनीष यादव, मो. रब्बानी अंसारी, शैलेंद्र कुमार, धर्मेंद्र कुमार,सुशांत कुमार, भोला दास, भीम यादव,भोला कुमार, मृत्युंजय कुमार, बालानंद कुमार,रोहित कुमार, विवेकानंद सिंह,रंजीत कुमार सहित सैकड़ों शिक्षक उपस्थित थे।