Breaking News

धोरैया : CDPO कार्यालय के सामने लगे सरकार विरोधी नारे, राख हुआ समाज कल्याण मंत्री का पुतला


[धोरैया(बांका)| अरुण कुमार गुप्ता]:-

आंगनबाड़ी सेविका-सहायिकाओं ने अपने 15 सूत्री मांगों को लेकर बिहार सरकार की नीति के विरोध में शनिवार को प्रखंड मुख्यलय परिसर स्थित बाल विकास परियोजना कार्यालय के सामने समाज कल्याण मंत्री कृष्णनंदन वर्मा का पुतला दहन कर विरोध प्रगट करते हुए सेवीका संघ करे पुकार, अब ना सहेगें अत्याचार । झांसे में नही आयेंगे, नीतीश को हरायेगे। पीएम सीएम मुर्दाबाद आदि सरकार विरोधी नारे लगाया गये।

ज्ञात हो कि बिहार राज्य आंगनबाड़ी संयुक्त संघर्ष समिति के आह्वान पर प्रखंड क्षेत्र के सभी सेविका एवं सहायका अपनी 15 सूत्री मांगों को लेकर विगत 5 दिसंबर से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर है।  इससे संबंधित जानकारी देते हुए आंगनबाड़ी सेविका-सहायिका संघ की उपाध्यक्ष संगीता कुमारी ने बताया कि विगत 25 दिन से लगातार हड़ताल जारी है फिर भी सरकार कान में रुई डाल कर बैठी हैै। जब तक हमारी मांगों पर सरकार गंभीरता पूर्वक विचार नहीं करती तब तक हड़ताल जारी रहेगा । हड़ताल की सबसे बड़ी वजह सरकार द्वारा आंगनबाड़ी सेविकाओं-सहायिकायों को एक बंधुआ मजदूर की भांति कार्य करने को विवश करना है। आंगनबाड़ी सेविका व सहायिकाओं को निम्न मानदेय पर रखा गया है। बढ़ती हुई महंगाई के बाद भी उनके मानदेय में वृद्धि नहीं की जा सकी है।सरकार सेविका एवं सहायिकाओं की मांग को लेकर उदासीन बनी हुई है। जबतक आंगनबाड़ी सेविका सहायिका को सरकारी कर्मचारी का दर्जा सहित 15 सूत्री मांगों के समर्थन में सेविका सहायिका अनिश्चितकालीन हड़ताल जारी रहेगा। सेविका-सहायिकाओं को तृतीय एवं चतुर्थवर्गीय कर्मचारियों का दर्जा देकर मानदेय नहीं, वेतन दिया जाए। बिहार सरकार को केवल काम प्यारा है। आगामी 8 एवं 9 जनवरी को मांग दिवस के रूप में सेविका-सहायिका सड़क पर उतर कर जिला मुख्यालय का चक्का जाम करेंगी। साथ ही उन्होंने कहा कि इन दिनों बढ़ती हुई भयंकर महंगाई में सरकार के अंतर्गत कार्यरत जितने भी पदाधिकारीगण हैं उनका वेतन और महंगाई भत्ता की राशि में वृद्धि की गई है । लेकिन सेविका-सहायिका द्वारा किए गए कार्यों को सरकार द्वारा नजर अंदाज किया जा रहा है।
मौके पर संघ के कोषाध्यक्ष अनिता कुमारी,अर्चना कुमारी,हेमलता देवी,श्यामा देवी, ममता देवी, समीना खातून, बबिता देवी,कुमारी बीना, शबनम बेगम,सबरी देवी,बीबी नुरून निशा सहायिका उषा देवी,चिन्ति देवी,संगीत देवी,रंजना देवी,शोभा देवी आदि दर्जनों लोग उपस्थित थे।