Breaking News

फाइनल मुकाबला में दुमका ने बामदह को दी करारी शिकस्त, रोमांचक रहा मैच


{चकाई | श्याम सिंह तोमर}:-

रविवार को स्थानीय चकाई के मिशन मैदान में अल्फा फुटबॉल क्लब चडरी द्वारा आयोजित तीन दिवसीय फुटबॉल मैच का फाइनल मैच खेला गया।  फाइनल मुकाबला बिहार राज्य के बामदह चकाई एवं झारखण्ड के दुमका के बीच खेला गया। फाइनल मुकाबला में दुमका ने बामदह को पेनाल्टी किक में 4-5 से हराकर प्रथम पुरस्कार पर कब्जा जमाया।

विजेता टीम को मुख्य अतिथि जमुई लोकसभा समाजसेवी प्रवाल पासवान व संत जोसेफ स्कूल चकाई सचिव मोरिश मरांडी ने संयुक्त रूप से  60 हजार रुपये देकर पुरस्कृत किया। इसके अलावा उपविजेता टीम को 30 हजार रुपये देकर पुरस्कृत किया गया।
मौके पर उपस्थित खिलाड़ियों को सम्बोधित करते हुए जमुई लोकसभा समाजसेवी प्रवाल पासवान ने कहा कि खेल मूल रूप से जीवन का एक महत्वपुर्ण हिस्सा हैं। ये प्रत्येक व्यक्ति के जीवन में एक महत्वपुर्ण भूमिका निभाता है। खेल और गतिविधियां सांसारिक जीवन के तनाव को दूर करने तथा सकारात्मक ऊर्जा पैदा करने में मदद करती हैं। यह आसन्न या निष्क्रिय लोगों के जीवनशैली में महत्वपुर्ण भुमिका निभाती है। खेल दिमाग और शरीर को सक्रिय और बेहतर बनाये रखने में मदद करती हैं। खेल खिलाड़ियों को निर्णय लेने के लिए बेहतर समझ तथा किसी भी प्रकार के डर और असफलता पर काबू पाने में मदद करती हैं।


श्री पासवान ने कहा कि यह सामाजिक रूप से लोगों को एकान्त से बाहर लाने और आनंदित रहने का अवसर प्रदान करती है. वही संत जोसेफ स्कूल सचिव मोरिश मरांडी ने विजेता व उपविजेता टीम को बधाई देते हुए कहा कि इसी तरह आपलोग खेलते रहें और राज्य देश का नाम रौशन करते रहे। मैच में एंपायर की भूमिका में सीतल मरांडी व कॉमेंट्री सुजीत किस्कू व बबलू सोरेन द्वारा किया गया। 


मौके पर अल्फा फुटबॉल क्लब चडरी के अध्यक्ष इग्नासीयस सोरेन, मुंशी बेसरा, संतोष मरांडी,  मोतीलाल मरांडी, धर्मेन्द्र कुमार, बिनोद बास्के, रमेश सोरेन, धीरेंद्र कुमार धीरज, बिरेन्द्र कुमार सहित संत जोसेफ स्कूल के सभी शिक्षिका सहित  हजारों दर्शक उपस्थित थे. सेमीफाइनल खेलने वाली टीम को पन्द्रह पन्द्रह हजार रुपये की नगद राशि दी गई. फाइनल मुकाबला के मेन ऑफ द मैच किस्कु को दिया गया। मेन ऑफ द सीरीज दुमका टीम के गोलकीपर संजीत किस्कु को दिया गया। मैच में कुल 32 टीमो ने भाग लिया।