Breaking News

अलीगंज : रामधन सिंह की मनाई गई 33वीं पुण्यतिथि, नम हुई आंखें


अलीगंज (चन्द्रशेखर सिंह) :-

प्रखंड के कैथा पंचायत स्थित धनार गांव में बुधवार को स्व. रामधन सिंह की 33 वीं पुण्यतिथि ई. नरेंद्र सिंह की अध्यक्षता में मनाई गई। सर्वप्रथम लोगों ने बारी-बारी से उनके प्रतिमा पर पुष्पांजलि अर्पित कर उन्हें नमन किया। उनके  द्वारा बताए मार्गों पर चलने का संकल्प लिया। कार्यक्रम का संचालन पूर्व सरपंच सदयानारायण सिंह ने किया।

सभा को संबोधित करते हुए ई. नरेंद्र सिंह ने कहा कि वर्ष 1930 के नमक सत्याग्रह आंदोलन संपूर्ण भारत में जोर पकड़ने लगा था। वे अपनी शक्ति को स्वतंत्रता आंदोलन एवं समाज उत्थान में लगाने का संकल्प लिया। उसी समय राष्ट्रीय नेता श्यामा प्रसाद सिह के नेतृत्व में वर्ष 1942 के भारत छोड़ो आंदोलन में अपने सहयोगियो के साथ स्वतंत्रता संग्राम में सक्रिय भुमिका निभाई। उन्होंने कहा कि वे समाजिक कुरीतियो को दूर करने का संकल्प लिया और समाज में फैले छुआछुत, दहेज प्रथा,सांप्रदायिकता उनमूलन,ग्राम आत्म निर्भरता,भूदान सहित कई उललेखनीय कार्य करने का काम किये। पूर्व मुखिया सुरेन्द्र पांडेय ने कहा कि वे समाज में शिक्षा का अलख जगाकर लोगों को शिक्षित होने के लिए प्रेरित किया। और कई लोगों उंचे मुकाम तक पहुंचकर बड़े -बड़े पदों को सुशोभित किया है। 

वरिष्ठ कांग्रेसी नेता देवनंदन सिंह ने कहा कि वे गांव में शिक्षक के रूप में शिक्षा की अलख जगाया। और वे 1947 ई. से सन् 1976 ई तक शिक्षक के पद को सुशोभित किया। सभी लोग गांव व इलाके में गुरूजी के नाम से पुकारते थे। उनकी मृत्यु 12 दिसम्बर 1985 को अचानक तबयत खराब होने पर हो गई।
मौके पर सेवानिवृत्त डीएसपी परमानंद सिंह,प्रो सदानंद सिंह,आनंदी सिंह,संत कुमार चौहान,तृपित नारायण सिंह,दयानंद सिंह सहित बड़ी संख्या में ग्रामीण महिला-पुरूष सहित बड़ी संख्या में गणमान्य लोग मौजूद थे।