Breaking News

रतनपुर : आस्था और विश्वास का केन्द्र है यह मंदिर, वर्षों से हो रही है मां काली पूजा

{रतनपुर (गिद्धौर) | भीमराज} Edited by :-  Abhishek:-

गिद्धौर प्रखंड के रतनपुर पंचायत स्थित दुर्गा मंदिर में तीन दिवसीय काली पूजा धूमधाम से मनाया जा रहा है। गिद्धौर-जमुई मुख्यमार्ग स्थित रतनपुर के इस प्राचीन मंदिर को  इलाके के लोग आस्था एवं विश्वास का केंद्र मानते हैं। भक्तों की ऐसी मान्यता है कि जो भी यहाँ मां काली के दरबार में सच्चे मन से मुरादे मांगते हैं उनकी मनोकामना पूरी होती है।


रतनपुर पंचायत के मुखिया राजेश सिंह ने जानकारी देते हुए बताया कि इस मंदिर परिसर में तीन दिवसीय काली पूजा के आयोजन में 2 दिनों तक मेला लगता है। दीपावली की मध्य रात्रि विधि विधान के साथ मां काली की प्रतिमा स्थापित कर पूजा की शुरुआत होती है एवं इलाके भर के हजारों श्रद्धालुओं श्रद्धा एवं विश्वास के साथ मां काली की प्रतिमा के दर्शन एवं उसकी आराधना करते नजर आते हैं।



कमीटी द्वारा संपूर्ण मंदिर परिसर को भव्य एवं आकर्षक ढंग से सजाया गया है। मिठाइयां चाट खिलौने आदि की दुकानें भी इस मेला की शोभा बढ़ाती है। पूजा के दौरान मां काली के जयघोष से पूरा मंदिर परिसर गूंज उठता है।
सुबह शाम माता की पूजा एवं आरती के लिए महिलाओं की भीड़ लगी रहती है। महिलाएं एवं बच्चों के धार्मिक गीतों की प्रस्तुति से मंदिर परिसर भक्तिमय हो जाता है। रतनपुर निवासी त्रिपुरारी पांडेय के द्वारा मां काली की पूजा विधि विधान के साथ परंपरागत तरीके से जारी है। मिली जानकारी अनुसार, शुक्रवार को पूरे भक्ति एवं श्रद्धा के साथ माता की प्रतिमा का विसर्जन रतनपुर के समीप नदी में किया जाएगा।

बताते चलें कि इस मेले के आयोजन में दुर्गा पूजा सह काली पूजा कमीटी के गठन में अध्यक्ष कन्हैया जी ,सचिव डॉ जागेश्वर रजक, कोषाध्यक्ष गोपाल केशरी तथा वर्तमान मुखिया, रतनपुर पंचायत के वार्ड सदस्य एवं ग्रामीणों के द्वारा सहयोग राशि उपलब्ध करके काली पूजा का आयोजन धूमधाम से की जाती है जबकि प्रतिमा का निर्माण सुदामा पुर निवासी मूर्तिकार नुनू देव रविदास करते हैं।  मेला के आयोजन को लेकर इलाके भर के युवाओं एवं बच्चों में गजब का उत्साह देखा जा रहा है।